सत्ता परिवर्तन के साथ अफसरशाही करने लगी तबादलों का इंतजार! लोगों को काम कराने के लिए करना पड़ सकता है इंतजार

 

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ अफसरशाही अपने तबादलों का इंतजार करने लग पड़ी है।

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ ही अब सरकारी अफसरशाही भी अपने बैग पैक करने में व्यस्त होती दिखाई दे रही है। तबादलों की अटकलों के मध्य अब सरकारी कामकाज की रफ्तार में भी कमी आ सकती है। कुछ अधिकारी मनपसंद की पोस्टिंग लेने की कवायद में जुटे हुए हैं।

 जालंधर। प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के साथ ही अब सरकारी अफसरशाही भी अपने बैग पैक करने में व्यस्त होती दिखाई दे रही है। प्रदेश में कुछ ही दिन में होने जा रहे नई सरकार के गठन के बाद सरकारी मशीनरी में हिलजुल होना लगभग तय माना जा रहा है। इसी के चलते सरकारी अफसरशाही अब तबादलों की बहार के शुरू होने का इंतजार कर रही है। 

हालांकि आम आदमी पार्टी (आप) सरकार का औपचारिक गठन कुछ दिन में होने जा रहा है, लेकिन शनिवार को ही प्रदेश के दो वरिष्ठ अधिकारियों का तबादला कर दिया गया है। आइएएस ए वेणु प्रसाद को मुख्यमंत्री का अडिशनल चीफ सेक्रेटरी नियुक्त किया गया है, जबकि आइएएस अधिकारी हुसन लाल, प्रिंसिपल सेक्रेट्री, टूरिज्म एवं कल्चर बनाए गए हैं। अब उम्मीद की जा रही है कि सरकार के गठन के बाद आइएएस, आइपीएस, पीसीएस और पीपीएस अधिकारियों  तबादलों का सिलसिला शुरू हो सकता है।तबादलों की अटकलों के मध्य अब सरकारी कामकाज की रफ्तार में भी कमी आ सकती है। वजह यह है कि तबादलों का इंतजार कर रहे कुछ अधिकारी अब काम की बजाए मनपसंद की पोस्टिंग लेने की कवायद में जुटे हुए हैं। खटकड़ कलां में नई सरकार का शपथ ग्रहण समारोह भी आयोजित होने जा रहा है, जिसमें प्रदेश सरकार की टॉप अफसरशाही पूरी तरह से व्यस्त है। शपथ ग्रहण समारोह के आयोजन को भी अति गंभीरता से लिया जा रहा है और अफसरशाही उसमें कोई कमी बाकी नहीं छोड़ना चाहती है। कयास यह लगाए जा रहे हैं कि सरकार के गठन के तत्काल बाद तबादलों की प्रक्रिया शुरू हो सकती है। पहले मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव एवं सचिव स्तर के तबादले संभव हैं तो फिर उसके बाद जिला स्तर पर भी तबादले होंगे।