हालत पतली कर देंगे ओमिक्रॉन+डेल्‍टा के ये लक्षण... कोरोना की चौथी लहर...

 

Coronavirus Covid 19: ओमिक्रॉन+डेल्‍टा बीए.2 के लक्षण कोरोना मरीजों को असहज करने वाले हैं।

Coronavirus Covid 19 कोरोना की चौथी लहर अभी दूर है। लेकिन ओमिक्रॉन+डेल्‍टा वेरिएंट के मिलन से बने सब वेरिएंट बीए.2 के लक्षण आम लोगों को असहज करने वाले हैं। वैज्ञानिकों की मानें तो एलर्जी की तरह दिखने वाले लक्षण खतरनाक तरीके से बढ़कर जानलेवा हो सकते हैं।

रांची। Coronavirus Covid 19 कोरोना की चौथी लहर अभी दूर है। हालांकि, भारत के कई राज्‍यों में Covid 19 Fourth Wave के लिए जिम्‍मेवार BA.2 Omicron+Delta Variant ओमिक्रॉन+डेल्‍टा वेरिएंट के मेल से बने बीए.2 सब वेरएिंट के मिलने की पुष्टि के बाद स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने अलर्ट जारी किया है। रविवार को एक बार फिर कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में गिरावट दर्ज की गई। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों में देशभर में 1421 नए कोविड -19 संक्रमित मरीजों की पहचान की गई। जबकि 149 कोरोना संक्रमितों की मौत इलाज के क्रम में हो गई। झारखंड में कोविड संक्रमण के सिर्फ 16 नए मामले दर्ज किए गए।

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों की मानें तो रविवार को देश में अब कुल 16187 कोविड एक्टिव केस रह गए हैं। जबकि इस सप्ताह की शुरुआत में कोविड -19 मामलों में मामूली वृद्धि दर्ज की गई थी। इधर, लगभग दो साल की कोरोना महामारी के बाद नागरिक उड्डयन महानिदेशालय द्वारा जारी एक आदेश के अनुसार अंतरराष्ट्रीय उड़ानें फिर से शुरू करने की तैयारी पूरी कर ली गई है। आज से विदेशों के लिए नियमित उड़ानें शुरू कर दी जाएंगी।

समर शेड्यूल 2022 इस साल 27 मार्च 2022 से 29 अक्टूबर तक प्रभावी है। मॉरीशस, मलेशिया, थाईलैंड, तुर्की, संयुक्त राज्य अमेरिका, इराक और अन्य सहित 40 देशों की कुल 60 विदेशी एयरलाइनों को समर शेड्यूल 2022 के दौरान भारत से/के लिए 1783 फ्रीक्वेंसी संचालित करने की मंजूरी दी गई है। इससे पहले भारत ने मार्च 2020 से कोविड महामारी के कारण अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को निलंबित कर दिया था।

असहज कर देंगे ओमिक्रॉन+डेल्‍टा के ये लक्षण

वैज्ञानिकों और स्‍वास्‍थ्‍य एक्‍सपर्ट के मुताबिक कोरोना की चौथी लहर भारत के लिए बहुत चिंताजनक नहीं है। क्‍योंकि यहां 184 करोड़ लोगों को कोरोना वैक्‍सीन दी गई है। लेकिन चिंता इस बात की है कि जिस तेजी से कोरोना वायरस म्‍यूटेंट हो रहा है और नए वेरिएंट की पहचान हो रही है। उससे कोरोना की चौथी लहर में संक्रमितों की संख्‍या बढ़ने से इंकार नहीं किया जा सकता। ओमिक्रॉन+डेल्‍टा सब वेरिएंट बीए.2 संक्रमितों की बेचैनी बढ़ाता है।

बीए.2 सब वेरिएंट ओमिक्रॉन और डेल्‍टा के मेल से बना खतरनाक वायरस है। जिसकी पहचान जांच के दौरान कई बार नहीं हो पाती। स्‍टील्‍थ ओमिक्रॉन कहे जाने वाले बीए.2 सब वेरिएंट आम तौर पर गला, उपरी श्‍वसन प्रणाली और पाचन तंत्र को नुकसान पहुंचाता है। शरीर में दर्द और थकान इसके दो मुख्‍य लक्षण हैं। बीए.2 से सं‍क्रमित मरीजों में बुखार, सर्दी, खांसी, गले में खरास, सिर दर्द और सामान्‍य एलर्जी में होने वाली समस्‍याएं देखी जाती हैं। समय पर इसकी पहचान नहीं होने पर यह संक्रमितों की मौत का कारण बन सकता है। बीए.2 ओमिक्रॉन+डेल्‍टा वेरिएंट बेहद तेजी से फैलता है।इधर भारत में कोरोना की चौथी लहर आने से पहले ही सभी लोगों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए कोविड वैक्सीन लेने की सख्त हिदायत दी गई है। सरकार की ओर से कोरोना वैक्सीन लेने के बाद सभी लोगों को अपने साथ कोविड-19 सर्टिफिकेट भी अनिवार्य तौर पर रखने को कहा गया ह

ै।