कागजों में मजबूत आम आदमी पार्टी के कई नेता क्यों हुए बेचैन

 

Delhi MCD Chunav 2022: पढ़िये- कागजों में मजबूत आम आदमी पार्टी के कई नेता क्यों हुए बेचैन

लगातार तीनों दिल्ली विधानसभा चुनाव में उम्दा प्रदर्शन करने वाली आम आदमी पार्टी नगर निगम चुनाव को लेकर पूरी तरह तैयार है। पिछले कुछ सालों के दौरान बड़ी संख्या में भाजपा और कांग्रेस के नेता AAP में शामिल हुए हैं।

नई दिल्ली  ,surender aggarwal। दिल्ली नगर निगम चुनाव 2022 को लेकर ज्यों ज्यों तारीख नजदीक आ रही है राजनीतिक दलों में सक्रियता बढ़ती जा रही है, मगर इसे लेकर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं में बेचैनी भी बढ़ रही है। बेचैनी का कारण बड़ी संख्या में दूसरे दलों के पार्टी में शामिल हो रहे नेता हैं, क्योंकि इससे पार्टी के कई कार्यकर्ताओं को अपनी राजनीतिक जमीन खिसकती दिख रही है। उन्हें इस बात का डर सता रहा है कि टिकट कहीं उनकी जगह पार्टी में आ रहे नेताओं को न मिल जाए। इसे लेकर कई कार्यकर्ता मन मसोस कर रह जा रहे हैं तो कुछ ने इसकी शिकायत पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से भी की है। इस निगम चुनाव को लेकर दूसरे दलों के भी कुछ नेता यह बात मान रहे हैं इस चुनाव में आम आदमी पार्टी बेहतर कर सकती है। इस तरह की विचारधारा के लोग भी लगातार आम आदमी पार्टी में शामिल हो रहे हैं। कुछ निगम पार्षद हैं, कुछ पूर्व निगम पार्षद हैं तो कुछ दूसरे दलों के इलाके में दमखम रखने वाले कार्यकर्ता हैं। यही वे लोग हैं जो पार्टी पार्टी के जमीनी कार्यकर्ताओं को परेशान कर रहे हैं। उन्हें डर है कि कहीं टिकट के लिए उनका पत्ता न कट जाए, क्योंकि वे पिछले पांच साल से इलाके में मेहनत कर रहे हैं। पार्टी के सभी आयोजनों में बढ़चढ़ कर भाग ले रहे हैं। पार्टी का झंडा उठाकर गली- गली और दरवाजे- दरवाजे घूमे हैं।

ऐसे कार्यकर्ताओं की हालत उस समय खराब होती जब उन्हें पता चलता है कि उनके वार्ड का दूसरे दल का निगम पार्षद या पूर्व निगम पार्षद पार्टी में शामिल हो गया है। हालांकि पार्टी अपने कार्यकर्ताओं को स्पष्ट कर चुकी है कि टिकट के मामले में कार्यकर्ताओं को नजरंदाज नहीं किया जाएगा। पार्टी के कार्यकर्ताओं का पूरा सम्मान होगा। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता कहते हैं कि किसी कार्यकर्ता को परेशान होने की जरूरत नहीं है। कार्यकर्ताओं को भी मौका जरूर मिलेगा। उन्होंने कहा कि अगर दूसरे दलों के मजबूत और ईमानदार लोग पार्टी में आ रहे हैं तो सह अच्छी बात है।इसका साफ संकेत यह भी है कि पार्टी निगम चुनाव में कुछ बड़ा करने जा रही है।ऐसे लोगों के लिए पार्टी के द्वार खुले हुए हैं।