तीन उड़ानों से स्वदेश लाए जा रहे सूमी से निकाले गए छात्र

 

तीन उड़ानों से स्वदेश लाए जा रहे सूमी से निकाले गए छात्र

सूमी से छात्रों को मंगलवार को बसों से नजदीकी शहर पोल्टावा लाया गया था। वहां से वे विशेष ट्रेन के जरिये पश्चिमी यूक्रेन के शहर लवीव पहुंचे थे। लवीव से उन्हें एक और विशेष ट्रेन के जरिये पोलैंड सीमा तक पहुंचाया गया।

नई दिल्ली, प्रेट्र।  युद्धग्रस्त यूक्रेन के शहर सूमी से निकाले गए लगभग 600 भारतीय छात्रों के समूह को तीन उड़ानों के जरिये स्वदेश लाया जा रहा है। ये उड़ानें शुक्रवार सुबह भारत पहुंचेंगी। ये छात्र गुरुवार को पोलैंड पहुंचे थे। छात्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, उन्हें लाने के लिए तीनों उड़ानें पोलैंड के शहर रेजजो से संचालित की जा रही हैं।

कार्यक्रम के मुताबिक वहां से पहली उड़ान गुरुवार को भारतीय समयानुसार रात नौ बजे निर्धारित थी। इस उड़ान से पहले, दूसरे और तीसरे वर्ष के छात्रों को लाया जा रहा है। दूसरी उड़ान रात 10.30 बजे निर्धारित थी और इससे चौथे और पांचवे वर्ष के छात्रों को लाया जा रहा है। तीसरी उड़ान रात 11.30 बजे निर्धारित थी और इसमें पांचवे और छठे वर्ष के छात्रों के साथ-साथ ऐसे छात्रों को लाया जा रहा है जिनके साथ उनके पालतू जानवर हैं या जो पहले वहां छूट गए थे।

मालूम हो कि सूमी से इन छात्रों को मंगलवार को बसों से नजदीकी शहर पोल्टावा लाया गया था। वहां से वे विशेष ट्रेन के जरिये पश्चिमी यूक्रेन के शहर लवीव पहुंचे थे। लवीव से उन्हें एक और विशेष ट्रेन के जरिये पोलैंड सीमा तक पहुंचाया गया।

119 भारतीयों और 27 विदेशियों को लेकर पहुंचा वायुसेना का विमान

यूक्रेन के पड़ोसी देश रोमानिया की राजधानी बुखारेस्ट से 119 भारतीयों और 27 विदेशियों के लेकर भारतीय वायुसेना का एक विमान गुरुवार सुबह करीब 5.40 बजे गाजियाबाद स्थित हिंडन वायुसैनिक हवाई अड्डे पर उतरा। यूक्रेन से निकाले गए भारतीयों को स्वदेश लाने के लिए वायुसेना की यह 17वीं उड़ान थी।