इलेक्ट्रिक व्हीकल्स में इन कारणों से लगती है आग, इन खतरों से बचने के लिए अपनाएं ये उपाय

 

ओला के इलेक्ट्रिक स्कूटर में कुछ दिनों पहले लगी थी आग

कुछ दिनों पहले ओला स्कूटर में अचानक आग लगने का मामला सामने आया था। ऐसी ही कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। इसलिए आज हम इलेक्ट्रिक स्कूटर्स में आग लगने के कारणों और इन खतरों से बचने के उपाय के बारे में यहां बात करने जा रहे हैं। आइए जानें।

नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। इलेक्ट्रिक व्हीकल्स में अचानक आग लगने की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। चाहे स्कूटर हो या इलेक्ट्रिक कार सबमें एक बैटरी लगती है। अगर इस बैटरी को ठीक से नहीं रखा जाय या आपको इसे सही तरीके से यूज करने का तरीका नहीं पता है तो इसमें आग सकती है और इससे जान भी जा सकती है। इसलिए, आज हम यहां उन कारणों के बारे में बात करेंगे, जिनके वजह से इलेक्ट्रिक वाहनों में आग सकती है। साथ ही आपको उन खतरों से बचने का तरीका भी बताएंगे।  

इलेक्ट्रिक स्कूटर में क्यों लगती है आग?

आपको बता दें कि अधिकतर इलेक्ट्रिक स्कूटर्स में लिथियम-आयन बैटरी का यूज किया जाता है। लिथियम आयन बैटरी में अगर आग लग जाए तो इसको बुझाना कठिन है, क्योंकि अगर आप आग बुझाने के लिए आप जैसे ही पानी डालते हैं, तुरंत पानी के संपर्क में आने हाइड्रोजन गैस और लिथियम-हाइड्रॉक्साइड पैदा होती है। हाइड्रोजन गैस से और तेज आग लग जाती है। कभी-कभी बैटरी बनाते समय भी कुछ कमी रह जाती है, जिसके कारण वह ज्यादा हीट होने लगती है। लिमिट से ज्यादा वाइब्रेशन होने पर भी लिथियम आयन बैटरी फट सकती है और आग लग सकती है।

देश में हो चुकी हैं ये घटनाएं

कुछ दिनों पहले ही ओला इलेक्ट्रिक स्कूटर में अचानक आग लगने की घटना सामने आई थी, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इसके पहले तमिलनाडु से एक दर्दनाक घटना सामने आई थी, जब घर में खड़े एक इलेक्ट्रिक स्कूटर में आग लगने से बाप और उसकी बेटी की मौत हो गई थी। हालांकि, कई घटनाओं के होने के बाद अब सरकार ने भी इस पर कड़ा संज्ञान लिया है।

इन खतरों से बचने के उपाय

आप अपने व्हीकल या बैटरी को कभी भी कड़ी धूप में न रखें। इसके अलावा गाड़ी की बैटरी जैसे ही फुल चार्ज हो जाए, उसे प्लग आउट कर दें। वहीं, आपको हमेशा उन बैटरी का ही यूज करना चाहिए, जो कंपनी फिटेड हैं। इसका मतलब है कि आप सस्ती और लोकल बैटरी का इस्तेमाल करने की भूल बिल्कुल न करें। इसके अलावा आपको ईवी चार्ज करने के लिए कंपनी के ओरिजनल चार्जिंग केबल का यूज करना चाहिए। आपको हमेशा लंबे सफर के तुरंत बाद बैटरी चार्ज करने से बचना चाहिए। अगर आप लंबे सफर के तुरंत बैटरी को चार्ज करते हैं तो बैटरी के अंदर पहले से गर्म लिथियम आयन सेल और गर्म होंगे और बैटरी फट सकती है। इसलिए, लंबी यात्रा के कुछ देर बाद बैटरी को चार्ज करें। आपको डैमेज बैटरी यूज करने से बचना चाहिए। अगर आपकी बैटरी हीट हो रही है, तो उसे तुरंत बदल दें।