विजन दिलाएगा सफलता, सोच का दायरा करें बड़ा; जोखिम लेने को रहें तैयार

 

अकादमिक ज्ञान से भी ज्यादा एक बड़े सोच और विजन का होना जरूरी है।

हम इस बात को भली- भांति समझते हैं कि सामान्य राह पर चलकर असाधारण परिणाम प्राप्त करने की उम्मीद नहीं कर सकते। जानते हैं कुछ ऐसे ही आवश्यक व्यवहारिक गुणों के बारे में जिनके द्वारा आप एक सफल उद्यमी बनने की राह पर आगे बढ़ सकते हैं

एक सफल उद्यमी बनने के लिए युवाओं को जितना शैक्षिक ज्ञान की जरूरत होती है, उससे कहीं ज्यादा जरूरी व्यावहारिक गुणों को सीखना और उसमें कार्यकुशलता हासिल करना होता है। ऐसा इसलिए कि एक सफल व्यवसायी का सोच साधारण लोगों से अलग होता है। उसमें अलग हटकर सोचने और काम करने का जज्‍बा होता है। 

सोच का दायरा करें बड़ा : इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपकी शिक्षा किस संस्‍थान या परिवेश में हो रही है। आवश्यक है तो बस आपके सोच और विजन का बड़ा होना। आपको अपने सोच का दायरा बड़ा और विस्तृत करना होगा, क्योंकि आप किसी भी सफल उद्यमी की केस स्‍टडी उठाकर देख लें, ज्यादातर बिजनेस टाइकून सामान्य शिक्षा और सामान्य पारिवारिक परिवेश से ही रहे हैं, लेकिन अपने बड़े सोच के बलबूते जीवन में कुछ बड़ा हासिल कर पाये। उदाहरण के लिए, शायद ही भारत में किसी ने यह सोचा होगा कि एक समय ऐसा आएगा कि खाना मंगाने के लिए घर से बाहर निकलना ही नहीं होगा। घर पर बैठे-बैठे आप अपने मोबाइल से फूड आर्डर कर पाएंगे या फिर बेहद कम कीमत की कार जिसको कोई भी सामान्य माध्यमवर्गीय परिवार खरीद सकता है। यह संभव किया एक बेहद सफल, दूर दृष्टि रखने वाले महान उद्यमी रतन टाटा ने। इसलिए एक सफल उद्यमी बनने के लिए पैसे और अकादमिक ज्ञान से भी ज्यादा एक बड़े सोच और विजन का होना जरूरी है।

बनें समाधान सुझाने वाले : ऐसा कहा जाता है जो लोग समस्याओं का समाधान नहीं ढूंढ़ पाते, वे खुद ही एक समस्या बन जाते हैं। यदि आपके सामने कोई समस्या है और आप उसका हल नहीं निकाल पा रहे हैं, तो आप के अंदर उस कार्य को करने की योग्यता विकसित करनी होगी। ऐसा इसलिए कि एक बड़ा और सफल उद्यमी बनने के लिए आपको ढेरों समस्याओं से होकर गुजरना होगा। आपको हर समस्या का समाधान ढूंढ़ने में सक्षम होना होगा, तभी आप सफल बिजनेसमैन बन पाएंगे।

जुटाएं बुनियादी जानकारियां : आप जिस भी क्षेत्र में अपना व्यापार खड़ा करना चाहते हैं, उस क्षेत्र की आपको समझ और बुनियादी जानकारी होनी चाहिए। उदाहरण के तौर पर यदि आप कपड़े का उद्योग लगाना चाहते हैं तो आपको पहले कुछ दिन कपड़ा बनाने वाली फैक्ट्री या कंपनी में काम करके बुनियादी जानकारी ले लेनी चाहिए।

जोखिम लेने को रहें तैयार : बिना जोखिम लिए आप कोई भी बिजनेस नहीं कर पाएंगे। क्योंकि हर बिजनेस में जोखिम होता है। नया काम सफल भी हो सकता है और असफल भी। इसलिए आपके अंदर जोखिम लेने की क्षमता होनी चाहिए।

सीखें असफलता से : बहुत से बिजनेसमैन शुरू में असफल होते हैं, परंतु उन्हें अपने बिजनेस आइडिया पर पूरा विश्वास होता है। वे धैर्य और लगन से अपना काम करते रहते हैं, जिससे बाद में उन्हें सफलता मिल जाती है। हो सकता है कि आप भी शुरू-शुरू में असफल हो जाएं, परंतु आपको अपने पर पूरा विश्वास होना चाहिए। असफल होने पर भी पीछे नहीं हटना चाहिए।