घर पर चोरी का आया कॉल तो चोर को पकड़ने के लिए तीन भाइयों ने बिछाया जाल, गिरफ्तार

 

मकान मालिक ने चोरों को पकड़ कर पुलिस को सौंप दिया।

मकान मालिक ने देखा कि मकान के मेन गेट का ताला टूटा है। इसके बाद सूझबूझ दिखाते हुए ये पड़ोस की छत से मकान में दाखिल हुए। यहां प्रथम तल पर इन्होंने पाया कि दो चोर मकान के अंदर हैं। दोनों आरोपितों को तीनों भाइयों ने काबू किया।

नई दिल्ली, संवाददाता। तीन भाइयों की सूझबूझ से चोरी कर रहे दो आरोपित रंगे हाथ पकड़े गए। मामला द्वारका सेक्टर 23 थाना क्षेत्र का है। विशाल वर्मा अंबराही गांव में रहते हैं और यहां इनकी कास्मेटिक की एक दुकान है। इस गांव में इनका एक मकान है, जिसमें ताला लगा हुआ रहता है। 26 मार्च को इनके बड़े भाई विकास की मोबाइल पर काल आया। काल करने वाले ने बताया कि आपके घर में चोर घुसा है। इसके बाद विकास, विशाल व विक्रांत तीनों इस मकान पर पहुंचे।

मकान के मेन गेट का ताला टूटा देखकर पड़ोसी की छत से घर में हुए दाखिल

इन्होंने देखा कि मकान के मेन गेट का ताला टूटा है। इसके बाद सूझबूझ दिखाते हुए ये पड़ोस की छत से मकान में दाखिल हुए। यहां प्रथम तल पर इन्होंने पाया कि दो चोर मकान के अंदर हैं। दोनों आरोपितों को तीनों भाइयों ने काबू किया। आरोपितों के पास से पांच नल बरामद हुए। पूछताछ में आरोपितों ने अपना नाम अमित और सुमित बताया। मामले से पुलिस को अवगत कराने के बाद दोनों आरोपित पुलिसकर्मी को सौंप दिए गए।

दृष्टिबाधित से मोबाइल छीनने वाला गिरफ्तार

वहीं बाहरी दिल्ली के मंगोलपुरी थाना पुलिस ने दृष्टिबाधित से मोबाइल छीनने वाले आरोपित को गिरफ्तार किया है। आरोपित की पहचान बुध विहार के वरुण उर्फ कुलदीप उर्फ लंगड़ा के रूप में हुई है। आरोपित के पास से मोबाइल व चाकू भी बरामद किया गया है।

आरोपित हिस्ट्रीशीटर पर पहले से दर्ज हैं 19 आपराधिक केस

आरोपित हिस्ट्रीशीटर है और पहले भी 19 आपराधिक मामलों में शामिल रहा है। बाहरी-उत्तरी जिला पुलिस उपायुक्त समीर शर्मा ने बताया कि 21 मार्च को आरोपित ने कंझावला इलाके के दृष्टिबाधित धीरज का मोबाइल छीन लिया था। पुलिस ने मामला दर्ज कर एसीपी वीरेंद्र कादयान की देखरेख व एसएचओ मनोज वर्मा के नेतृत्व में टीम बनाई।