तुर्की के ड्रोन और अमेरिकी मिसाइल से लड़ रहा यूक्रेन

 

    तुर्की में बना ड्रोन खास और चर्चित है।

    Russia-Ukraine War रूस ने यूक्रेन पर हमला तो अब किया है लेकिन अमेरिका ने उसे हथियारों की आपूर्ति जनवरी माह से ही शुरू कर दी थी जनवरी 2022 में अमेरिका ने करीब 300 जेवलिन मिसाइल यूक्रेन को दी थीं

    नई दिल्ली, स्पेशल। रूस के खिलाफ यूक्रेन को पश्चिमी देशों से अत्याधुनिक हथियार मिलने लगे हैं। बीते दिनों जर्मनी ने अपनी बरसों पुरानी नीति बदलकर यूक्रेन को हथियार देने का ऐतिहासिक फैसला किया। अन्य देश भी आगे आए हैं। यूक्रेनी सेना जिन हथियारों का प्रयोग युद्ध में रूस के खिलाफ कर रही है, उसमें तुर्की में बना ड्रोन खास और चर्चित है। अमेरिकी मिसाइल से भी यूक्रेन रूसी सेना पर हमले कर रहा है।

    काम्बैट ड्यूटी में लगाए गए मारक ड्रोन

    • यूक्रेन के रक्षा मंत्री ओलेक्सी रेजनिकोव ने एक फेसबुक पोस्ट में यूक्रेनी द्वारा तुर्की में बने ड्रोन के प्रयोग की बात स्वीकार की है
    • रेजनिकोव ने कहा है कि तुर्की में बने ड्रोन बेरकतर की खेप पहुंच चुकी है और काम्बैट ड्यूटी पर लगा दी गई है। अब अमेरिकी स्टिंगर और जेवेलिन मिसाइलों की खेप आने की बारी है
    • बेरकतर टर्की की कंपनी बेकर का बनाया हुआ अत्याधुनिक युद्धक ड्रोन है
    • इसे बेरकतर टीबी2 नाम दिया गया है और इसकी खासियत है कि यह 24 घंटे तक हवा में रह सकता है
    • यह ड्रोन टैंक रोधी मिसाइल से लैस होता है और जमीन पर हमले के लिए छोटे बम भी इसमें लगाए जा सकते हैं
    • यूक्रेनी सेना लगातार ड्रोन के प्रयोग के वीडियो इंटरनेट मीडिया पर साझा कर रही है। इस ड्रोन से रूसी सेना की सप्लाई चेन और टैंकों को निशाना बनाया जा रहा है

    ये हैं अन्य हथियार

    • तुर्की के ड्रोन के अलावा पश्चिमी देशों से भेजे जा रहे अन्य हथियार यूक्रेन की मदद कर रहे हैं।
    • इनमें जेवलिन और स्टिंगर मिसाइलें प्रमुख हैं। यह दोनों ही मिसाइलें अमेरिका में बनाई जाती हैं।
    • जेवलिन छोटी दूरी की एंटी टैंक मिसाइल है जबकि स्टिंगर लांचर के माध्यम से दागी जाने वाली एंटी एटरक्राμट मिसाइल है।
    • युयूनाइटेड किंगडम ने एएलएडब्ल्यू नाम की एक एंटी टैंक मिसाइल भी यूक्रेन को दी है।

    इसलिए हैं ये हथियार अहम

    • रूस द्वारा एक के बाद शहरों पर कब्जे के बीच यूक्रन के लिए यह हल्के हथियार इस युद्ध में काफी अहम साबित हो सकते हैं
    • यह रूस को हरा तो नहीं सकते, लेकिन रूसी सेना को भारी नुकसान पहुंचा सकते हैं

    अमेरिका से मदद की गुहार

    • यूक्रेनी रक्षा मंत्री रेजनिकोव ने अमेरिकी रक्षा मंत्री लायड आस्टिन से मंगलवार को फोन पर बात की
    • अमेरिकी रक्षा विभाग ने कहा है कि यूक्रेन ने उससे लगातार सैन्य सहयोग प्रदान करने का आग्रह किया है
    • यूनाइटेड किंगडम ने 2,000 एनएलएडब्ल्यू मिसाइलें भेजी
    हैं

  • जर्मनी ने कहा है कि वह 1,000 एंटी टैंक हथियार और 500 स्टिंगर मिसाइल यूक्रेन को देगा