यूक्रेन के रिहायशी इलाके बनते जा रहे मलबे का ढेर, रूस के हमले जारी

 

रूसी आक्रमण में यूक्रेन के जाइटोमीर शहर में ध्वस्त हुई रिहायशी इमारतें

मानव त्रासदी बढ़ती जा रही है लोगों का पलायन जारी है। संयुक्‍त राष्‍ट्र के मुताबिक अब तक 10 लाख लोग यूक्रेन से पलायन कर चुके हैं। इस दौरान भारत समेत कई देश अपने नागरिकों को युद्धग्रस्‍त देश से अपने नागरिकों को निकालने में जुटे हुए हैं।

यूक्रेन और रूस के बीच जंग जारी है। रूसी सेना का यूक्रेनी सैनिक और जनता पूरे साहस के साथ लड़ रहे हैं। हालांकि, रूस आक्रमण के साथ यूक्रेन के रिहायशी इलाके, पुल और इमारतें मलबे का ढेर बनते जा रहे हैं। मानव त्रासदी बढ़ती जा रही है, लोगों का पलायन जारी है। संयुक्‍त राष्‍ट्र के मुताबिक, अब तक 10 लाख लोग यूक्रेन से पलायन कर चुके हैं। इस दौरान भारत समेत कई देश अपने नागरिकों को युद्धग्रस्‍त देश से अपने नागरिकों को निकालने में जुटे हुए हैं। युद्ध की विभीषिका के असर से बच्चे भी अछूते नहीं हैं। तस्‍वीरों के जरिए देखिए, यूक्रेन में कैसे हैं हालात।

jagran

रूसी आक्रमण में यूक्रेन के जाइटोमीर शहर में ध्वस्त हुई रिहायशी इमारतें (रायटर)

jagran

हमले में नष्ट हुआ रिहायशी इलाके का जिम (एपी)

jagran

कीव के बाहरी इलाके में ध्वस्त पुल (एपी)

jagran

युद्ध की भेंट चढ़े टैंक और बख्तरबंद वाहन (रायटर)

jagran

गोरेंका में रूस के हवाई हमले में घर क्षतिग्रस्त होने के बाद व्यथित महिला। (एपी)

jagran

कीव में भूमिगत मेट्रो स्टेशन में शरण लिए परिवार (एएफपी)

jagran

हमले के बाद स्वजन संग पोलैंड पहुंची बच्ची (रायटर)क्रेन की राजधानी कीव के बाहरी क्षेत्र गोरेंका में बुधवार को रूस के हवाई हमले में घर ध्वस्त होने के बाद महिला रो पड़ी (एपी)