चीनी मंत्री ने की सामान्य भारत संबंधों की मांग, देश ने कहा-पहले सीमा पर तनाव कम करें

 

चीनी मंत्री ने की सामान्य भारत संबंधों की मांग (फोटो- एएनआइ)

चीनी विदेश मंत्री वांग ने अपनी भारत यात्रा पर सामान्य भारत संबंधों की मांग की वहीं विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इस बात पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जब तक सीमा पर भारी मात्रा में सैनिकों की तैनाती है स्थिति सामान्य नहीं है।

नई दिल्ली, एजेंसियां। भारत दौरे पर पहुंचे चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने सामान्य भारत संबंधों की मांग की है। बता दें कि शुक्रवार को विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने समकक्ष वांग यी से मुलाकात की थी। लद्दाख की सीमा पर तनाव के बाद, चीनी विदेश मंत्री का यह पहला भारत दौरा है। मुलाकात के बाद विदेश मंत्री जयशंकर ने प्रेस कान्फ्रेंस को संबोधित किया, जिसमें उन्होंने बताया कि चीन के साथ संबंध तब तक सामान्य नहीं हो सकते हैं, जब तक कि उनके सैनिक विवादित सीमा पर एक-दूसरे से पीछे नहीं हट जाते। आपको बता दें कि जून 2020 में लद्दाख के उत्तरी हिमालयी क्षेत्र में आमने-सामने की लड़ाई में 20 भारतीय और चार चीनी सैनिकों के मारे गए थे, जिसके बाद से दोनों देशों ने ऊंचाई वाली सीमा पर हजारों सैनिकों को तैनात किया गया।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने आगे बताया कि देश के पास अभी भी कई क्षेत्रों में तनाव है, जबकि पैंगोंग त्सो समेत कुछ तनाव वाले क्षेत्रों को हल करने में प्रगति हुई है। जिसपर हमारी मुलाकात में चर्चा हुई कि इसे कैसे आगे बढ़ाया जाए। भारत के विदेश मंत्री सुब्रह्मण्यम जयशंकर ने वांग यी के साथ तीन घंटे की बैठक के बाद एक समाचार ब्रीफिंग में कहा, 'मैं चीनी विदेश मंत्री के साथ अपनी चर्चा में, विशेष रूप से हमारी राष्ट्रीय भावनाओं को व्यक्त करने में बहुत ईमानदार था। लेकिन अप्रैल 2020 से चीन की तैनाती से उत्पन्न होने वाले घर्षण और तनाव को दोनों पड़ोसियों के बीच सामान्य संबंधों के साथ नहीं सुलझाया जा सकता है।'

वहीं चीनी विदेश मंत्री वांग ने एक बयान में कहा कि चीन और भारत को दुनिया भर में शांति और स्थिरता को बढ़ावा देने के लिए मिलकर काम करना चाहिए। उन्होंने कहा, 'दोनों पक्षों को सीमा मुद्दे पर मतभेदों को द्विपक्षीय संबंधों में उचित स्थिति में रखना चाहिए और द्विपक्षीय संबंधों के विकास की सही दिशा का पालन करना चाहिए।'