बिना बंदिशों के पूरे दो साल बाद देश में होली का धमाल, आम लोगों से लेकर नेता तक दिखे रंगों में सराबोर

 

नेताओं से लेकर आम लोगों तक सभी होली के रंगों में सराबोर दिखे

पूरे दो सालों के बाद देश में बिना किसा पाबंदी के होली का त्यौहार मनाया जा रहा है। साल 2020 में कोरोना की दस्तक के बाद सभी सामान्य चीजें मानों आसामान्य हो गई थीं। लेकिन मौजूदा साल कोरोना के सफल टीकाकरण अभियान के बाद समान्य स्थिति नजर आ रही है।

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क: पिछले दो सालों से कोरोना के साए में होली के रंग मानों कुछ फीके पड़े गए थे, लेकिन साल 2022 की होली में होरियारों ने सारी कसर पूरी कर दी। पूरे देश से बिना किसी पाबंदी के होली के रंगों में सराबोर तस्वीरें सामने आ रही हैं। देश में कोविड के ओमिक्रोन वैरिएंट के कारण आई तीसरी लहर का बहुत ज्यादा व्यापक असर नहीं दिखा। जिसका एक बड़ा कारण देश में सफल कोरोना टीकाकरण को माना जा रहा है। देश में टीकाकरण 180 करोड़ से ज्यादा के आंकड़े को पार कर चुका है। साथ ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अब बच्चों का टीकाकरण भी शुरू कर दिया। होली से पहले ही देश के करीब-करीब सभी प्रदेशों में कोरोना पाबंदियों को समाप्त कर दिया गया था। क्योंकि मौजुदा वक्त में प्रतिदिन के हिसाब से बहुत कम संक्रमण के मामले दर्ज किए जा रहे हैं। 

होली के रंगों में सभी का दिखा एक रंग

देश में कोरोना ने साल 2020 में दस्तक दी थी, जिसके बाद से सभी सामान्य चीजें मानों आसामान्य हो गई। बड़ी तादाद में लोगों ने अपनी जान गवाई, साथ ही संक्रमण के मद्देनजर सरकार की तरफ से कई तरह की पाबंदियां भी लगाई गईं थीं। लेकिन साल 2022 की होली एक नया जोश और नए उत्साह को लेकर आई है। आज सुबह से ही देश के अलग अलग कोनों से रंगों में सराबोर तस्वीरे सामने आ रहीं। एक तरफ जहां दिल्ली में जेपी नड्डा, राजनाथ सिंह समेत तमाम राजनेताओं ने होली मनाई। वहीं कश्मीर में भी देश की सुरक्षा में तैनात जवानों के बीच होली का उत्साह नजर आया।

ट्रांसजेंडर समुदाय ने भी मनाया होली का त्यौहार

भुवनेश्वर में ट्रांसजेंडर समुदाय के लोगों ने एक दूसरे को रंग लगाकर होली का त्यौराह मनाया।

देश की सुरक्षा में तैनात जवानों ने मनाई होली

कश्मीर में सरहद पर तैनात सेना के जवानों ने भी नाच-गाकर होली का जश्न मनाया। सीमा पर बर्फ के बीच जवानों ने स्थानीय लोगों के साथ गुलाल उड़ाकर त्यौहार मनाया।