द कश्मीर फाइल्स को झूठी बताकर केजरीवाल ने कश्मीरी पंडितों का किया अपमान: आदेश गुप्ता

 

आप के नेता देश के विरोध में बात करने वालों का समर्थन करते रहे हैं।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री विधानसभा में अपने संबोधन में ‘द कश्मीर फाइल्स’ को कर मुक्त करना तो दूर इसे अच्छी फिल्म के रूप स्वीकार करने से बचते रहे। उनके संबोधन से लगता है कि उन्हें कश्मीरी हिंदुओं की पीड़ा से कोई लेना-देना नहीं है।

नई दिल्ली,  संवाददाता। भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री दुष्यंत गौतम ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अर¨वद केजरीवाल ने ‘द कश्मीर फाइल्स’ को झूठी फिल्म बताकर कश्मीरी पंडितों का अपमान किया है। यदि यह फिल्म झूठी है तो मुख्यमंत्री दिल्ली में इस पर प्रतिबंध लगाकर दिखाएं। दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखकर फिल्म देखने के लिए आमंत्रित किया था। इसके लिए बृहस्पतिवार महादेव रोड स्थित फिल्म डिवीजन में ‘द कश्मीर फाइल्स’ की स्क्रीनिंग रखी गई थी।

गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री ने फिल्म देखने का आमंत्रण ठुकरा दिया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को इस बात का डर है कि यदि वह इस फिल्म को देख लेंगे तो एक विशेष समूह उनसे नाराज हो जाएगा। उन्हें बताना चाहिए कि किस मजबूरी के कारण वह कश्मीरी हंिदूुओं के नरसंहार की सच्चाई बताने वाली फिल्म के समर्थन में नहीं बोल रहे हैं।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री विधानसभा में अपने संबोधन में ‘द कश्मीर फाइल्स’ को कर मुक्त करना तो दूर, इसे अच्छी फिल्म के रूप स्वीकार करने से बचते रहे। उनके संबोधन से लगता है कि उन्हें कश्मीरी हिंदुओं की पीड़ा से कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि आप के नेता देश के विरोध में बात करने वालों का समर्थन करते रहे हैं।

कश्मीर में अलगाववादियों की जनमत संग्रह की मांग का समर्थन कर चुके हैं। जेएनयू में देशविरोधी बातें करने वालों का भी आप नेता समर्थन करते रहे हैं। इस फिल्म में इन लोगों की सच्चाई सामने रखी गई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लेकर भी मुख्यमंत्री ने अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल किया है। इससे आप के नेताओं के संस्कार का पता चलता है।