भारत बंद का दूसरा दिन: कुछ राज्यों में मिला-जुला असर, सड़कों पर जारी है विरोध प्रदर्शन

 

भारत बंद का दूसरा दिन: कई राज्यों में बंद हैं दुकानें, सड़कों पर जारी है विरोध प्रदर्शन

सरकार की नीतियों के खिलाफ देशव्यापी बंद के दूसरे दिन मंगलवार को देश के कई राज्यों में मिला जुला असर देखा गया। कर्नाटक तमिलनाडु व केरल समेत अनेक राज्यों में ट्रेड यूनियन के लोग सड़कों पर उतर विरोध कर रहे हैं। साथ ही दुकानों को भी बंद रखा गया है।

नई दिल्ली, एजेंसी। सरकार की नीतियों के खिलाफ देशव्यापी बंद के दूसरे व अंतिम दिन मंगलवार को देश के कई राज्यों में मिला जुला असर देखा गया। यह बंद सरकार की नीतियों के खिलाफ सेंट्रल ट्रेड यूनियन ने बुलाई है।  कर्नाटक, तमिलनाडु व केरल समेत अनेक राज्यों में ट्रेड यूनियन के लोग सड़कों पर उतर विरोध कर रहे हैं। साथ ही दुकानों को भी बंद रखा गया है।

कुछ राज्यों में सामान्य जनजीवन प्रभावित

दो दिवसीय देशव्यापी बंद का मंगलवार को दूसरा दिन है। देश के कुछ हिस्सों में सामान्य जनजीवन पर इस बंद का असर देखने को मिल रहा है। प्रेट्र के अनुसार कुछ राज्यों में पब्लिक ट्रांसपोर्ट और बैंकिंग सर्विस प्रभावित है। सिक्किम व अरुणाचल प्रदेश में यूनियन के लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। आल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस (AITUC) के जनरल सेक्रेटरी अमरजीत कौर ने प्रेट्र को बताया, ' अधिकांश सेक्टर के वर्करों ने इस बंद में हिस्सा लिया है। हमें ग्रामीण इलाकों से अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। सोमवार को 20 करोड़ से अधिक लोगों ने इसमें साथ दिया दूसरे दिन संख्या और बढ़ने की उम्मीद है।'

तमिलनाडु, कर्नाटक व केरल का हाल

एएनआइ के अनुसार तमिलनाडु में DMK की अगुवाई वाली ट्रेड यूनियन लेबर प्रोग्रेसिव फेडरेशन (LPF) समेत विभिन्न ट्रेड यूनियनों ने हिस्सा लिया। चेन्नई में यूनियन के सदस्य सड़कों पर उतर आए। तिरुअनंतपुरम में भी दुकानें बंद हैं। कर्नाटक के कलबुर्गी में सेंटर आफ इंडियन ट्रेड यूनियंस (CITU) व अन्य वाम संगठन सरकार की नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

इस बंद में यूनियन आफ बैंक के कर्मचारी भी हिस्सा ले रहे हैं। बंद के पहले दिन सोमवार को कुछ बैंक की शाखाओं में अव्यवस्था रही और पश्चिम बंगाल, केरल व तमिलनाडु जैसे राज्यों में पब्लिक ट्रांसपोर्ट सेवाएं भी बाधित हुईं। हालांकि आवश्यक सेवाएं जैसे हेल्थकेयर, इलेक्ट्रिसिटी और ईंधन की सप्लाई पर कोई असर नहीं हुआ। आफिस व शिक्षण संस्थानों पर भी बंद का असर नहीं दिखा।