यमुना में नहा रहे थे तीन किशोर, एक डूबा, दो को बाहर निकाला

 

यमुना में डूबे किशोर की तलाश करते गोताखोर।

करनाल में यमुना नदी में नहा रहा एक किशोर डूब गया। तीन किशोर नहाने के लिए गए थे। तीनों डूबने लगे तो दो को बचा लिया गया। जबकि एक का पता नहीं चल सका। गोताखोरों की टीमें कर रही किशोर की तलाश।

घरौंडा (करनाल), संवाद सहयोगी। लालुपुरा घाट पर यमुना में नहाते वक्त एक किशोर डूब गया। घटना मंगलवार दोपहर बाद को हुई, लेकिन किशोर के स्वजनों को यह जानकारी देर रात को लगी और सुबह आसपास के गांवों में भी यह सूचना फैल गई तो बड़ी संख्या में लोग यमुना पर पहुंच गए। सूचना मिलने पर प्रशासन हरकत में आया और गोताखोरों व ग्रामीणों की सहायता से तलाश शुरू की, लेकिन कई घंटों की तलाश के बाद भी कोई सुराग नहीं लगा।

मंगलवार की दोपहर को ताहरपुर गांव का रहने वाला 17 वर्षीय शंटी अपने चचेरे भाई बंटी व अन्य एक साथी के साथ लालुपुरा घाट पर नहाने के लिए गया था। जैसे ही तीनों नहाने लगे तो शंटी डूब गया। बंटी व उसका साथी भी डूबने लगा तो रेत की खान के एक कर्मचारी ने उन्हें देख लिया और बचाने के लिए यमुना में कूद गया। उन्होंने ये दोनों सुरक्षित बाहर निकाल लिए। लेकिन इन दोनों ने कर्मचारी को यह नहीं बताया कि उनका साथी शंटी यमुना में डूब गया है और दोनों घर वापस चले गए। शाम को दोनों फिर से पांच बजे यमुना के लालुपुरा घाट पर पहुंचे तो कर्मचारी ने दोनों को वापस आने का कारण पूछा। उन्होंने बताया कि उनके पैसे गुम हो गए थे, वो ही ढूंढने आए हैं, लेकिन कर्मचारी ने दोनों को वापस घर भेज दिया।

शंटी नहीं लौटा तो स्वजनों को हुई चिंता

मंगलवार को शंटी देर रात तक भी घर नहीं लौटा था। जिससे स्वजनों की चिंता बढ़ती जा रही थी। उन्हें मालूम हुआ कि शंटी अपने चचेरे भाई बंटी व एक अन्य के साथ यमुना पर नहाने के लिए गया था। बंटी से पूछताछ की तो पता चला कि वह और उसका साथी नहाते वक्त डूब रहे थे और सदरपुर के एक व्यक्ति ने उन्हें बचाया था, लेकिन उन्हें शंटी के बारे में कोई जानकारी नहीं।

बाद में शंटी के स्वजन दोनों को लेकर सदरपुर में पहुंचें और दोनों को बचाने वाले से मुलाकात की। उसने इन दोनों को पहचान लिया और शंटी के बारे में पूछा तो कोई जानकारी नहीं मिल पाई। दोनों ने बाद में बताया कि दोपहर को ही शंटी डूब गया था और वे डरकर वहां से भाग आए थे। यह जानकर स्वजन सन्न रह गए और सूचना डायल 112 नंबर पर दी। जिसके बाद पुलिस ईआरवी मौके पर पहुंची। देर रात होने के कारण शंटी की तलाश शुरू नहीं हो पाई।

सुबह यमुना पर पहुंचा प्रशासनिक अमला

बुधवार की सुबह नायब तहसीलदार इंद्र सिंह, बीडीपीओ गुरलीन कौर, एएसआई राजकुमार गोताखोरों की टीम के साथ यमुना के लालुपुरा घाट पर पहुंच गए। गोताखोरों की टीम ने ग्रामीणों के साथ सर्च अभियान शुरू किया। एक मोटर बोट व 15 गोताखोरों ने यमुना का चप्पा तलाशा, लेकिन कोई सुराग नहीं लगा। स्वजनों की चिंता भी लगातार बढ़ने लगी। 24 घंटे से ज्यादा समय युवक को डूबे हुए हो चुके हैं। लेकिन शंटी का कोई सुराग नहीं लगा है।

यमुना में लालुपुरा घाट पर ताहरपुर गांव के 17 वर्षीय शंटी के डूबने की सूचना मिली है। सूचना के बाद प्रशासनिक अधिकारी व गोताखोरों की टीम मौके पर पहुंच गई है। यमुना में सर्च अभियान चलाया हुआ है। लेकिन अभी तक कोई सुराग नहीं लगा है।

-दीपक कुमार, थाना प्रभारी घरौंडा।