दिल्ली मेट्रो आज महिला यात्रियों को देगा गुड न्यूज, होगा इनामों का ऐलान

 

Delhi Metro News: बनाए रखिये इस खबर पर, दिल्ली मेट्रो आज महिला यात्रियों को देगा गुड न्यूज

Delhi Metro News अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर 8 मार्च को शुरू की गई नारा और कविता लेखन प्रतियोगिता के नतीजे दिल्ली मेट्रो शुक्रवार को घोषित करने वाला है। डीएमआरसी अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर विजेता महिला यात्रियों के नामों का ऐलान करने के साथ पुरस्कारों के बारे में भी बताएगा।

नई दिल्ली, डिजिटल डेस्क। दिल्ली मेट्रो रेल निगम द्वारा अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 2022 के दिन (8 मार्च) को शुरू हुई नारा और कविता लेखन प्रतियोगिता में अगर आपने भी भाग लिया है तो खुशखबरी का पल कभी भी आ सकता है। दिल्ली मेट्रो अगले कुछ घंटों में युवतियों और महिला यात्रियों को आकर्षक इनाम देने का ऐलान करने वाला है। ‘एक सशक्त कल के लिए आज लैंगिक समानता’ विषय पर उम्दा नारा और कविता लिखने वालों को इनाम में क्या दिया जाएगा? इस पर सस्पेंस भी शुक्रवार को खत्म हो जाएगा।

गौरतलब है कि दिल्ली मेट्रो ने अंतराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर ‘एक सशक्त कल के लिए आज लैंगिक समानता’ विषय नारा और कविता लेखन प्रतियोगिता शुरू की थी, जिसमें प्रविष्टि भेजने की अंतिम तारीख 14 मार्च थी। कविता और नारा डीएमआरसी की आधिकारिक वेबसाइट पर भेजना था। इसके साथ 25 मार्च को इनामों की घोषणा का भी ऐलान किया था। 

यह है प्रतियोगिता

बताया जा रहा है कि 8 मार्च से शुरू हुई इस प्रतियोगिता के अंतर्गत दिल्ली मेट्रो में सफर करने वाली महिलाओं और युवतियों ने बड़ी संख्या में 14 मार्च तक ‘एक सशक्त कल के लिए आज लैंगिक समानता’ विषय पर नारा या कविता लिखकर भेजी है। डीएमआरसी की आधिकारिक वेबसाइट पर इस विषय पर जमकर पोस्ट आए हैं, जिसमें महिला यात्रियों ने कविता लेखन के साथ आकर्षक नारे भी लिखे हैं। डीएमआसी के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, इस प्रतियोगिता में विजेता घोषित होने वाले महिलाओं-युवति को दिल्ली मेट्रो की और से इनाम के तौर पर एक खास तोहफा दिया जायेगा।

डीएमआरसी की तारीफ भी कर रहे लोग

दिल्ली मेट्रो की इस प्रतियोगिता को लेकर इंटरनेट मीडिया पर लोगों ने जमकर तारीफ भी की है। दरअसल, इस प्रतियोगिता का मकसद दिल्ली मेट्रो में सफर करने वाली महिलाओं और युवतियों के अनुभव हासिल करना है, ताकि इन अनुभवों से मेट्रो अपनी सेवाओं और सुविधाओं में बेहतरी कर सके।