कर्नाटक: मंदिरों के पास मुस्लिम दुकानदारों पर प्रतिबंध के पोस्टरों पर विवाद, सरकार ने दी सफाई

 

मंदिरों के पास मुस्लिम दुकानदारों पर प्रतिबंध वाले पोस्टर (फोटो- एएनआइ)

कर्नाटक के कई मंदिरों के पास मुस्लिम दुकानदारों को लेकर लगाए गए पोस्टरों को लेकर विवाद हो गया है। सरकार ने कहा है कि मामले को जल्द सुलझा लिया जाएगा। वहीं पुलिस ने कार्रवाई की बात कही है।

बेंगलुरु, एएनआइ। कर्नाटक में हिजाब विवाद (Hijab Row) अभी शांत नहीं हुआ है, लेकिन अब एक और विवाद सामने आया है। राज्य में कुछ जगहों पर लगे मुस्लिम दुकानदारों के खिलाफ पोस्टर चर्चा का विषय बन गए हैं। इन पोस्टरों में मुस्लिमों को मंदिरों के पास दुकान या स्टाल लगाने से मना किया गया है।

कर्नाटक में मंगलुरु जिले में भी बप्पनडु दुर्गा परमेश्वरी मंदिर के वार्षिक मेले में 'मुस्लिम अपने स्टाल नहीं लगा सकते हैं' लिखे पोस्टर मंदिर के चारो ओर लगे हैं। हालांकि, मंदिर प्राधिकरण ने इस तरह के किसी भी बैनर को लगाने से इन्कार किया है। उन्होंने कहा ये पोस्टर उनकी सूचना में लाए बिना लगाए गए हैं।

मंदिर के प्रशासक मनोहर शेट्टी ने कहा, 'बैनर मंदिर प्राधिकरण द्वारा नहीं लगाया गया था। किसी ने इसे हमारी सूचना के बिना लगाया था। मंदिर प्राधिकरण ने किसी को भी यहां व्यापार करने से नहीं रोका है।'

पुलिस बोली- कार्रवाई करेंगे

मंगलुरु पुलिस कमिश्नर एन शशि कुमार ने कहा, 'हमें घटना के बारे में पता चला है। हमने इसके बारे में स्थानीय प्रशासन और मंदिर प्राधिकरण को सूचित किया है। उनके एक्शन के आधार पर हम इस पर कार्रवाई करेंगे। कुछ अन्य मंदिरों में भी इसी तरह के बैनर लगाए गए हैं। हम कानूनी कार्रवाई की राय लेंगे और फिर अपना अगला कदम उठाएंगे।'

क्या बोला अल्पसंख्य आयोग?

इस विवाद पर कर्नाटक राज्य अल्पसंख्यक आयोग ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। आयोग के अध्यक्ष अब्दुल अजीम ने बुधवार को कहा कि मंदिर के वार्षिक मेले में गैर-हिंदुओं को दुकानें नहीं लगाने देने को लेकर मंदिर के फैसले के संबंध में बातचीत हो रही है। मामले को जल्द सुलझा लिया जाएगा।