वाहनों के विशेष नंबरों की सीरीज जारी, अब ये जानकारी मिलना भी हुआ आसान, पढ़िए पूरी खबर

 

सीरीज के लिए वीआइपी नंबर जारी नहीं होगी।

सीरीज के लिए मंत्रलय ने 10 लाख तक की लागत वाले वाहनों के लिए आठ फीसद 10-20 लाख रुपये की लागत वाले वाहनों के लिए 10 फीसद व 20 लाख रुपये से अधिक की लागत वाले वाहनों के लिए 12 फीसद रोड टैक्स तय किया है।

नई दिल्ली, संवाददाता। सड़क पर चलते वक्त गाड़ी की नंबर प्लेट देखकर आप अंदाजा लगा लेते हैं कि यह गाड़ी किस राज्य के किस शहर की है। किंतु अब कुछ ऐसे नंबर भी जारी होंगे, जिनसे राज्य और शहर का पता नहीं चलेगा। इसके दो बड़े लाभ होंगे। पहला, दूसरे राज्य की नंबर प्लेट देख ट्रैफिक पुलिस अनायास नहीं रोकेगी। दूसरा, यह कि दूसरे राज्य में तबादला होने पर आपके वाहन का नंबर दूसरे राज्य में भी मान्य होगा। ये नंबर बीएच, यानी भारत सीरीज के होंगे।

इस सीरीज के मामले में सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि ये नंबर केंद्र सरकार या उन निजी कंपनियों के कर्मियों के लिए ही जारी हो सकेंगे, जिनके कम से कम चार राज्यों में दफ्तर होंगे। साथ ही ऐसे कर्मियों की तबादले वाली नौकरी हो। यह सीरीज कारों और दोपहिया वाहनों के लिए भी है। इस सीरीज के लिए वीआइपी नंबर जारी नहीं होगी। परिवहन विशेषज्ञ अनिल चिकारा कहते हैं कि इस सीरीज के शुरू होने से उन्हें ज्यादा राहत मिलेगी, जिनका तबादला होता रहता है। सड़क परिवहन मंत्रलय ने रक्षाकर्मियों, केंद्र व राज्य सरकारों के कर्मियों, सार्वजनिक उपक्रमों, निजी क्षेत्र की कंपनियों व संगठनों के स्वामित्व वाले निजी वाहनों के लिए इस सीरीज की शुरुआत की है।

इस सीरीज की नंबर प्लेट सफेद रंग की होगी और उस पर काले रंग में नंबर लिखे जाएंगे। नंबर प्लेट पर सबसे पहले वर्ष लिखा जाएगा, यानी 2022 में वाहन पंजीकृत हैं तो 22 पहले लिखा होगा फिर बीएच लिखा होगा। इसके बाद चार अंक में नंबर लिखा जाएगा। इसमें वाहन मालिकों को दो साल या दो-दो साल के हिसाब में रोड टैक्स का भुगतान करना होगा। पूरी प्रक्रिया आनलाइन होगी। इस सीरीज के लिए मंत्रलय ने 10 लाख तक की लागत वाले वाहनों के लिए आठ फीसद, 10-20 लाख रुपये की लागत वाले वाहनों के लिए 10 फीसद व 20 लाख रुपये से अधिक की लागत वाले वाहनों के लिए 12 फीसद रोड टैक्स तय किया है। डीजल वाहनों के लिए दो फीसद अतिरिक्त शुल्क व इलेक्टिक वाहनों पर दो फीसद कम कर लगाया जाएगा।