साहब ने तो तय कर दिया किराया, लेकिन आटो चालकों की चल रही मनमानी, यात्रियों की सुन लीजिए परेशानी

 

मुंगेर में मनमाना किराया-परेशान हैं यात्री, क्या करें?

मुंगेर में किराया को लेकर यात्रियों के साथ हर दिन हो रहा अभद्र व्यवहार। मुंगेर-जमालपुर सहित कई रूटों पर आटो चालकों की मनमानी। जमालपुर स्टैंड संचालक नहीं मान रहे जिला प्रशासन के नियम। पढ़ें मुंगेर से आई खास रिपोर्ट...

 संवाददाता, मुंगेर : शहर में में आटो चालक यात्रियों से निर्धारित नहीं बल्कि मनमाना किराया वसूल रहे हैं। आलम यह है कि एक ही दूरी के लिए अलग-अलग किराया वसूला जा रहा है। आटो स्टैंड संचालक और चालक जिला प्रशासन के निदेर्शों को पालन नहीं कर रहे हैं। साहबों का निर्देश इनके लिए मायने नहीं रखता। मुंगेर से सभी रूट के लिए किराया निर्धारित होने के बाद भी यात्रियों से आठ से नौ रुपये ज्यादा लिया जा रहा है। अब तक आटो चालकों ने किराया चार्ट तक भी नहीं लगाया है।

समूह में रहने वाले आटो चालक जरा-जरा सी बात पर विवाद पर उतारू हो जाते हैं। दरअसल, किराया को लेकर लगातार मिल रही शिकायत के बाद पांच मार्च को एसडीओ और जिला परिवहन पदाधिकारी ने आटो मालिक और आटो चालकों के साथ बैठकर कर शहर से अलग-अलग रूट के लिए किराया निर्धारित किया था। छह मार्च से इसे लागू भी कर दिया गया। सबकुछ निर्धारित होने के बाद भी यात्रियों से अवैध किराया वसूला जा रहा है। आटो चालकों का कहना है कि प्रशासन की ओर से कम किराया निर्धारित किया गया है, ऐसे कम किराया में गुजारा होना संभव नहीं है।

  • -11 रुपये मुंगेर-जमालपुर के बीच निर्धारित है किराया
  • -20 रुपये एक यात्री से वूसल रहे स्टैंड संचालक व चालक
  • -09 रुपये यात्रियों को ज्यादा चुकाना पड़ रहा है किराया
  • -05 की जगह आठ से नौ पसैंजर ढो रहे आटो चालक

नौ रुपये ज्यादा लिया जा रहा भाड़ा

एसडीओ और जिला परिवहन पदाधिकारी ने मुंगेर से जमालपुर के बीच डीजल आटो का किराया 11 रुपये निर्धारित किया है। पर यहां से चलने वाले सभी आटो चालकों ने एक-एक यात्रियों से 20-20 रुपये वसूल कर रहे हैं। यात्री इसका विरोध करते हैं तो आटो चालक कुछ सुनने को तैयार नहीं है। चालक और स्टैंड संचालक यात्रियों से अभद्र व्यवहार पर उतर जाते हैं। हर दिन नोकझोंक हो रही है।

स्टैंड संचालकों को नहीं है प्रशासनिक आदेश का परवाह

जमालपुर रेलवे स्टेशन, मुंगेर स्टैंड के संचालकों को प्रशासनिक आदेश का परवाह नहीं है। प्रशासन का जरा सा भी डर नहीं है। स्टैंड चलने वाले आटो में संचालक 11 की जगह 20 रुपये पहले लेने के बाद ही यात्रियों को बिठाते हैं। हर दिन किराया को लेकर तू-तू, मैं-मैं होता है।

यात्रियों ने प्रशासन से लगाई गुहार

मनमाना किराया लिए जाने पर यात्रियों ने जिलाधिकारी से गुहार लगाई है। यात्रियों ने बताया कि जिस तरह से आटो चालक मनमानी कर रहे हैं, उन पर अंकुश नहीं लगाया जा रहा है। यात्री सुजीत कुमार, रामप्रसाद, राकेश तिवारी और शिवम ने जिला प्रशासन से निर्धारित किराया लिए जाने की मांग की है।

केस स्टडी-एक: रितेश कुमार मुंगेर से जमालपुर जाने के लिए आटो में सवार हुए। आटो चालक ने जमालपुर तक का किराया 20 रुपये वसूल किया। इस पर यात्री भड़क गया, पर चालक ने एक नहीं सुना।

केस स्टडी-दो: यात्री मनोहर मांझी जमालपुर से मुंगेर आने के लिए आटो पर सवार हुए। आटो चालक ने 20 रुपये किराया देने की बात कही। आटो चालक ने कहा कि किसी भी सूरत में किराया कम नहीं होगा।

जिला परिवहन पदाधिकारी जियाउल हक ने कहा कि मुंगेर से जमालपुर के लिए परिमाण विभाग की ओर से निर्धारित किराया 11 रुपये ही लेना है। आटो चालक निर्धारित से ज्यादा किराया वसूल रहा है तो वैसे चालकों पर कार्रवाई होगी। अप्रैल से इसके लिए सघन जांच अभियान चलाया जाएगा। जरूरत पडऩे पर वाहन भी जब्त किया जाएगा।