पानीपत में पुरानी शुगर मिल में पार्षद ने मांगी आठ एकड़ जगह, ट्रामा सेंटर और थाना बनाने की योजना

 

डाहर शिफ्ट हो रही है शुगर मिल, 65 एकड़ में है पुरानी शुगर मिल।

पानीपत पुरानी शुगर मिल अब धीरे-धीरे पूरी तरह से डाहर नई शुगर मिल में शिफ्ट किया जा रहा है। एक माह के अंदर-अंदर उम्मीद है कि पुरानी शुगर मिल पूरी तरह से डाहर में शिफ्ट हो जाएगी। इसके साथ नई परियोजनाओं पर काम शुरू होगा।

पानीपत,  संवाददाता। पानीपत के गोहाना रोड स्थित पुरानी शुगर मिल की जगह पर वार्ड 18 के पार्षद बलराम मकौल ने आठ एकड़ जमीन की मांग की है। यह पत्र वीरवार को होने वाली हाउस की बैठक में भी रखा जाएगा। अगर अनुमति मिली तो शहर के 50 हजार से ज्यादा लोगों को फायदा होगा। यहां पार्षद ने मांग है कि एक स्कूल, ट्रामा सेंटर व थाना बनाने की योजना है। इसके लिए पार्षद ने प्लान तैयार किया है। इसके आधार पर ही नगर निगम की होने वाली हाउस की बैठक में मुद्दा रखा जाएगा। 

अगर तीनों चीज बनी तो 50 हजार लोगों को होगा फायदा

पार्षद बलराम मकौल के अनुसार वार्ड में आसपास कोई सरकारी स्कूल भी नहीं है, न ही कोई ट्रामा सेंटर और इसके साथ ही पुलिस थाना भी बनाए जाने की मांग की है। इसमें दो एकड़ में ट्रामा सेंटर, 4 एकड़ में सरकारी स्कूल एवं पार्क व दो एकड़ में थाना बनाने की प्लान तैयार किया है। काफी समय से शुगर मिल शिफ्ट होने की राह देखी जा रही है। यहां पहले आम लोगों को अच्छी सुविधा देने के लिए प्लानिंग तैयार की गई थी।

12 कालोनियों को होगा फायदा

गोहाना रोड स्थित पुरानी शुगर मिल अब धीरे-धीरे पूरी तरह से डाहर नई शुगर मिल में शिफ्ट किया जा रहा है। एक माह के अंदर-अंदर उम्मीद है कि पुरानी शुगर मिल पूरी तरह से डाहर में शिफ्ट हो जाएगी। इसके साथ नई परियोजनाओं पर काम शुरू होगा। बनाए गए प्राेजेक्ट से आसपास की 12 कालोनियों को फायदा होगा।

तीन बड़े प्रोजेक्ट तैयार किए : पार्षद

वार्ड 18 के पार्षद बलराम मकौल ने जागरण से बातचीत में बताया कि शुगर मिल जाने के बाद तीन महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट तैयार किए है। इसमें ट्रामा सेंटर, सरकारी स्कूल एवं पार्क और पुलिस थाना बनाने की अपील की गई है। इस मुद्दे को होने वाली हाउस की बैठक में रखा जाएगा।