अब घर-घर राशन पहुंचाएगी भगवंत मान सरकार, केजरीवाल बोले- दिल्ली में भी लाना चाहते थे यह स्कीम

 

Bhagwant Mann Announcement: पंजाब के मुख्‍यमंत्री भगवंत मान की फाइल फोटो।

Door Step Delivery of Ration पंजाब के मुख्‍यमंत्री भगवंत मान आज फिर बड़ी घोषणा की है। राज्‍य में अब लोगोंं को घर बैठक राशन मिलेगा। भगवंत मान ने कहा कि 75 साल पुराना सिस्‍टम बदलेंगे। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम इसे दिल्‍ली में भी लागू करना चाहते थे।

चंडीगढ़। Door Step Delivery of Ration : पंंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आज राज्‍य के फिर एक बड़ी घोषणा की है। अब राज्‍य के लोगों को घर बैठे राशन मिलेगा। उन्‍होंने कहा कि सरकार गरीबों को घर-घर राशन पहुंचाएगी। हम पंजाब में 75 साल पुराना सिस्‍टम बदलेंगे।  सरकार के सत्‍ता संभालने के बाद मुख्‍यमंत्री भगवंत मान अब तक कई घोषणाएं कर चुके हैं। आम आदमी पार्टी के कन्‍वीनर और दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस घोषणा का स्‍वागत किया है और इसे ऐतिहासिक कदम करार दिया है। 

सीएम भगवंत मान ने कहा- पंजाब में 75 साल पुराना सिस्टम बदलेंगे

पूर्व विधायकों की अलग-अलग पेंशन बंद करने के बाद अब उनकी नई घोषणा को लेकर कयासबाजी शुरू हो गई थी। सीएम भगवंत मान का कहना है कि उनकी सरकार केे 10 दिन के कार्यकाल में 10 बड़ी घोषणाएं की जा चुकी हैं। 

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पंजाब में घर-घर राशन योजना चालू हो गया है। मैं पंजाब के लोगाें को इसके लिए बहुत खुश हूंं। केंद्र सरकार ने इसे दिल्ली में लागू करने से रोका। कोई बात नहीं। इसकी शुरुआत अब पंजाब से करेंगे।

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने 'राशन , आपके द्वार' योजना शुरू की है जिसके जरिए लोगों को अब घर बैठे ही राशन विभाग मुहैया करवाएगा। लोगों को लाइनों में लगकर राशन लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी। मुख्यमंत्री ने आज एक वीडिया मैसेज जारी करके कहा कि राशन लेने के लिए लोगों को लंबी लाइनों में लगना पड़ता है और गरीब लोगों को कई बार राशन लेने के लिए अपनी दिहाड़ी भी छोड़नी पड़ती है जिससे उनका नुकसान होता है।

उन्‍होंने कहा कि एक गरीब आदमी जो रोजाना कमाकर खाने वाला है, इस हालत में नहीं होता कि वह अपनी दिहाड़ी छोड़ सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने देखा कि कभी कभी माताओं बहनों को दूर से राशन लाना पड़ता है लेकिन अब सरकार ने फैसला किया है कि विभाग के लोग आपके घर पर राशन मुहैया करवाएंगे। घर आने से पूर्व लोगों से पूछा जाएगा कि वे घर पर हैं कि नहीं।उन्होंने कहा कि राशन की क्वालिटी भी अच्छी होगी और उसमें कंकर आदि नहीं होंगे। भगवंत मान ने दावा किया कि यही स्कीम आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार ने भी शुरू किया था लेकिन वहां इसे रुकवा दिया गया लेकिन हम इसे पंजाब में लागू करके दिखाएंगे।

रविंद केजरीवाल ने किया घोषणा का स्‍वागत, कहा- हम दिल्‍ली में भी लागू करना चाहते थे   

आम आदमी पार्टी के कन्वीनर व दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने पंजाब की भगवंत मान सरकार द्वारा राशन घर-घर तक पहुंचाने के निर्णय का स्वागत किया। केजरीवाल ने कहा कि वह दिल्ली में इस योजना को लागू करना चाहते थे, लेकिन केंद्र ने ऐसा करने नहीं दिया। अब पंजाब में मान सरकार इसे लागू कर रही है।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पंजाब सरकार की यह योजना पूरे देश के लिए नजीर बनेगी। पंजाब में लागू हुई यह योजना अन्य प्रदेशों में भी लागू की जा सकेगी। उन्होंने कहा कि आप सरकार ने मोहल्ला क्लीनिक शुरू की अब धीरे-धीरे अन्य राज्य भी इस ओर बढ़ रहे हैं।

केजरीवाल ने कहा कि वह सीसीटीवी लगाना चाहते थे, लेकिन तीन साल तक इस फाइल को रोके रखा गया। स्कूल बनाना चाहते थे इन फाइलों को भी लंबे समय तक रोके रखा गया। पिछले 75 वर्ष से लोगों को हर कदम पर रोका गया। कहा कि देश के लोग तरक्की करना चाहते हैं। अब लोग रुकने वाले नहीं। दो राज्यों में लोगों ने कट्टर ईमानदार सरकार बना दी। केजरीवाल ने कहा कि अब यह देश रुकने वाला नहीं है।

आम आदमी पार्टी के कन्वीनर अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वह आज बहुत खुश हैं कि सीएम भगवंत मान ने गरीबों के लिए शानदार एलान किया। इसका असर आने वाले समय में सारे देश पर पड़ेगा। पंजाब में गरीबों का राशन उनके घर-घर पहुंचाया जाएगा। दिल्ली के सीएम ने कहा कि आजादी के 75 वर्ष के बाद भी गरीबों को राशन के लिए लाइन में लगना पड़ता है, लेकिन भगवंत मान सरकार के फैसले से अब पंजाब में ऐसा नहीं होगा।

बता दें कि मुख्‍यमंत्री भगवंत मान ने हाल ही में पूर्व विधायकों को एक पेंशन ही देने की बड़ी घोषणा की थी और इस फैसले का पंजाब के लोगों ने जमकर सराहना की। अब तक राज्‍य में पूर्व विधायकों को अलग- अलग कार्यकाल के लिए अलग - अलग पेंशन मिलती थी। भगवंत मान सरकार के निर्णय से पूर्व विधायकों को एक ही पेंशन मिलेगी।

राज्‍य को लेकर मुख्‍यमंत्री भगवंत मान द्वारा किए जा रहे फैसलों को गुप्‍त रखा जा रहा है और मुख्‍यमंत्री स्‍वयं इसकी घोषणा कर रहे हैं। माना जा रहा है कि पूर्व विधायकों की एक ही पेंशन करने के बाद सीएम भगवंत मान विधायकों के आयकर का भुगतान सरकार की ओर से करने पर रोक लगा सकते हैं।

अब तक परंपरा रही है कि विधायकों के इनकम टैक्‍स का भुगतान पंजाब सरकार की ओर से किया जाता रहा है।  इस व्यवस्‍था पर कई बार सवाल उठाए जा चुके हैं, लेकिन यह जारी रही। कैप्‍टन अमरिंदर सिं‍ह सरकार के समय विधायकोंं से अपना आयकर खुद भरने की अपील की गई थी, लेकिन इसका खास असर नहीं हुआ और कुछेक विधायकों को छोड़कर किसी ने आयकर खुद नहीं भरा। 

सत्‍ता संभालने के बाद से मुख्‍यमंत्री भगवंत मान कई अहम घोषणाएं कर चुके हैं। उन्‍होंने सबसे भ्रष्‍टाचार पर वार करते हुए रिश्‍वत आदि लेने को लेकर सूचना देने के लिए हेल्‍पलाइन नंबरों की घोषणा की। इसके बाद कई शिकायतें मिली हैं और यह क्रम जारी है। इन शिकायतों की मानिटरिंग मुख्‍यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) कर रहा है। इसके बाद  सीएम भगवंत मान ने राज्‍य में वीआइपी को मिले सुरक्षाकर्मी वापस लेने की घोषणा की।   

अब तक 10 दिन में 10 बड़े फैसले ले चुकी है भगवंत मान सरकार 

बता दें आज थोड़ी देर पहले ही मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट के जरिए कहा कि दस दिन की सरकार में दस बड़े फैसले लिए गए हैं। इन फैसलों में भ्रष्टाचार की शिकायत को लेकर टेलीफोन नंबर जारी करना भी शामिल है। भगवंत मान ने पिछले हफ्ते ही एक विधायक एक पेंशन का फैसला लिया है। सरकार इसको लेकर जल्द ही विधानसभा में विधेयक ला सकती है। 

इसके अलावा 25 हजार कर्मचारियों को रेगुलर करने का मामला हो या फिर भर्ती की घोषणा भी मुख्यमंत्री ने अपने वीडियो मैसेज के जरिए की। जब से आम आदमी पार्टी की सरकार बनी है तभी से घोषणाएं सिर्फ वीडियो मैसेज के जरिए ही की जा रही हैं। पार्टी की ओर से अपने इंटरनेट मीडिया के पेजों पर इसकी घोषणाएं हो रही हैं और उसके बाद ही सरकार की ओर से इसे जारी किया जाता है। दो दिन पहले भी मुख्यमंत्री ने मानसा में किसानों को उनकी फसलों के नुकसान की गिरदावरी करवाने से पूर्व ही मुआवजा देने की घोषणा की है।