अंबेडकरनगर में हत्यारोपित पूर्व मंत्री की पत्नी शोभावती से पूछताछ, तीन बदमाशों की पीटकर हुई थी हत्‍या

 

अंबेडकरनगर में पूर्व मंत्री की पत्नी के साथ अन्य अभियुक्तों की भूमिका की भी गहराई से जांच चल रही है।

उत्‍तर प्रदेश के अंबेडकरनगर ज‍िले में इब्राहिमपुर थाने के उतरेथू बाजार में तीन बदमाशों की हत्या पीट-पीटकर की गई थी । पुलिस ने पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष सहित कई अन्य के खिलाफ दर्ज किया है केस। पुलिस ने रव‍िवार को पूर्व मंत्री लालजी वर्मा की पत्नी शोभावती से पूछताछ की।

अंबेडकरनगर, संवादसूत्र। उतरेथू बाजार में पीट-पीट कर की गई हत्या के मामले में नामजद पूर्व मंत्री लालजी वर्मा की पत्नी शोभावती पर कभी भी कानून का शिकंजा कस सकता है। पुलिस ने घटना से जुड़े कई बिंदुओं पर उनसे सवाल-जवाब किए हैं। अन्य साक्ष्य भी जुटाए जाने का दावा किया जा रहा है। पुलिस का कहना है कि पूर्व मंत्री की पत्नी के साथ अन्य अभियुक्तों की भूमिका की भी गहराई से जांच चल रही है।

बदमाशों ने 26 जून 2020 को उतरेथू बाजार में दिनदहाड़े गोलियां बरसाकर इब्राहिमपुर थाने के चिनगी गांव के रहने वाले धर्मेंद्र वर्मा की हत्या कर दी थी। इस घटना से आसपास के लोग काफी आक्रोशित हो गए थे। भीड़ ने हत्या करने आए चार बदमाशों में तीन को बाजार में ही घेरकर पकड़ लिया था। इसके बाद पीट-पीटकर उन्हें मौत के घाट उतार दिया था। इस घटना में अहिरौली थाने के धरमपुर गांव का रितेश उर्फ डीएम भी मारा गया था। रितेश के पिता सुरेश सिंह ने अपने बेटे के हत्यारों पर मुकदमा दर्ज कराने के लिए थाने में तहरीर दी थी, लेकिन पुलिस ने कार्रवाई करने से इनकार कर दिया। सुरेश सिंह का आरोप रहा है कि धर्मेंद्र, पूर्व मंत्री लालजी वर्मा का बेहद करीबी था और उनके परिवार के सदस्यों के इशारे पर ही रितेश की हत्या की गई थी। थाने से न्याय मिलने की आस टूटने के बाद सुरेश सिंह ने अदालत का दरवाजा खटखटाया।

अदालत ने पुलिस को आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर विवेचना का आदेश दिया। इसके बाद करीब महीनेभर पहले इब्राहिमपुर पुलिस ने मोहिद्दीनपुर गांव के रहने वाले पूर्व मंत्री लालजी वर्मा की पत्नी व पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष शोभावती वर्मा, उतरेथू चिनगी के अजीत वर्मा, रामभवन, महेंद्र वर्मा, जितेंद्र वर्मा, मन्ने वर्मा, सुखीराम वर्मा सहित सात अन्य अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा पंजीकृत किया था। थानाध्यक्ष प्रमोद सिंह ने बताया कि सभी आरोपितों से पूछताछ की जा रही है। पुलिस की एक टीम पूर्व मंत्री के घर उनकी पत्नी का बयान दर्ज करने गई थी। अन्य जरूरी साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। जरूरत पड़ी तो जल्द ही गिरफ्तारी भी की जाएगी।