इमरान खान ने मान ली हार, पाकिस्‍तान के गृह मंत्री ने जल्‍द चुनाव के दिए संकेत

 

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और गृह मंत्री शेख राशिद। फाइल फोटो

शेख राशिद ने सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ (पीटीआई) के सदस्यों से कहा कि प्रधानमंत्री के खिलाफ जाने से पहले पाला बदलने को यह भी ध्यान रखना चाहिए कि देश में जल्दी चुनाव भी हो सकते हैं और इससे पक्ष बदलने को कोई फायदा नहीं होगा।

 इस्लामाबाद, प्रेट्र। पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख राशिद ने गुरुवार को कहा कि संकट में घिरे प्रधानमंत्री इमरान खान सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के कारण मौजूदा राजनीतिक अनिश्चितता को खत्म करने के लिए देश में जल्द चुनाव कराए जा सकते हैं। इस्लामाबाद में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए शेख राशिद ने पार्टी के असंतुष्टों को भी चेतावनी दी कि पक्ष बदलने से उनका कोई भला नहीं होगा।आठ मार्च को विपक्षी दलों द्वारा नेशनल असेंबली सचिवालय के सामने पेश किए गए अविश्वास प्रस्ताव में आरोप लगाया गया था कि प्रधानमंत्री इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ (पीटीआई) सरकार देश में बढ़ते आर्थिक संकट और बढ़ती महंगाई के लिए जिम्मेदार है। 69 वर्षीय इमरान खान गठबंधन सरकार का नेतृत्व कर रहे हैं और अगर कुछ सहयोगी दल उन्‍हें बदलने का फैसला करते हैं तो उन्हें हटाया जा सकता है।

23 सदस्यों वाली उनकी सहयोगी पार्टियों ने अविश्वास प्रस्ताव के दौरान संसद में उनका समर्थन करने के लिए स्पष्ट संकेत देने से इन्‍कार करने के बाद इमरान खान मुश्किल में पड़ गए हैं, जो इस महीने के अंत में संसद में चर्चा के लिए आएंगे। उनकी परेशानी तब और बढ़ गई, जब उनकी पार्टी के भीतर करीब दो दर्जन असंतुष्ट उभर आए हैं। इमरान खान और उनके मंत्री यह धारणा बनाने की कोशिश कर रहे हैं कि सरकार में सब कुछ ठीक था और वह मुकदमे से विजयी होंगे।

शेख राशिद ने सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ (पीटीआई) के सदस्यों से कहा कि प्रधानमंत्री के खिलाफ जाने से पहले पाला बदलने को यह भी ध्यान रखना चाहिए कि देश में जल्दी चुनाव भी हो सकते हैं और इससे पक्ष बदलने को कोई फायदा नहीं होगा। मंत्री ने कहा कि जो लोग दल बदल रहे हैं और सोच रहे हैं कि उन्हें सम्मान मिलेगा, वे गलत हैं। रशीद ने जल्‍द खुशखबरी का वादा किया था, इसके बावजूद जमीनी हकीकत में इमरान खान अपनी हार के करीब हैं।