ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जानसन ने पुतिन को हराने के लिए छह सूत्री एजेंडे का किया जिक्र, जानें इसकी बारीकियां

 

बोरिस जानसन ने एक लेख में रूस को हराने के लिए छह सूत्रीय एजेंडा का खाका खींचा है।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जानसन ने अमेरिकी अखबार द न्यूयार्क टाइम्स में एक लेख लिखा है। समाचार एजेंसी आइएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक बोरिस जानसन ने कहा है कि हमें आक्रामक कोशिशों के खिलाफ आगे आना ही होगा...

लंदन, आइएएनएस। ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जानसन (UK Prime Minister Boris Johnson) ने रूस को हराने के लिए छह सूत्रीय योजना तैयार की है। 'द न्यूयार्क टाइम्स' (The New York Times) के एक लेख में बोरिस जानसन ने कहा है कि रूसी राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन (Russian President Vladimir) को हारना ही होगा। हमारी ओर से नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के प्रति समर्थन जताना ही पर्याप्‍त नहीं है। हम सबको सेना के दम पर नियमों को बदलने की कोशिशों के खिलाफ भी कदम उठाना होगा।बोरिस जानसन ने अपने छह सूत्रीय एजेंडे का जिक्र करते हुए लेख में कहा है कि दुनिया के नेताओं को एकजुट होकर यूक्रेन के लिए अंतर्राष्ट्रीय मानवीय गठबंधन बनाना चाहिए। यही नहीं आत्मरक्षा की कोशिशों के तहत यूक्रेन का समर्थन करना चाहिए। मौजूदा वक्‍त में अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को रूस पर आर्थिक दबाव बढ़ाए जाने के साथ ही यूक्रेन में रूसी आक्रामकता का विरोध भी करना चाहिए। यही नहीं नाटो देशों के बीच सुरक्षा को मजबूत करने के लिए भी तेजी से काम किया जाना चाहिए।  

ये है ब्रिटिश पीएम का छह सूत्री एजेंडा

  • यूक्रेन संकट पर दुनिया के नेताओं को अंतरराष्ट्रीय मानवीय गठबंधन का गठन करना चाहिए।
  • देशों को आत्मरक्षा के तहत यूक्रेन का समर्थन करने के साथ ही उसकी मदद करनी चाहिए।
  • रूस को रोकने की कोशिशों के तहत उस पर एकजुटता के साथ आर्थिक दबाव बढ़ाना चाहिए।
  • अंतरराष्ट्रीय समुदाय को यूक्रेन में रूसी आक्रामकता को रोकने की कोशिशें की जानी चाहिए।
  • मौजूदा संकट को टालने के लिए कूटनीति का सहारा लेना चाहिए जिसमें यूक्रेन भी शामिल हो।
  • नाटो देशों के बीच सहयोग को मजबूती देने के लिए ठोस कोशिशें की जानी चाहिए।

वहीं यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदोमिर जेलेंस्की का कहना है कि यदि इस लड़ाई में यूक्रेन हार जाता है तो यह उसकी नहीं वरन पूरे यूरोप की हार होगी। उन्‍होंने दुनिया से समर्थन की अपील की है। उन्‍होंने कहा है कि अगर हम जीत गए तो यह लोकतंत्र की बड़ी जीत होगी। यह हमारे मूल्यों और स्वतंत्रता की जीत होगी। यह अंधकार पर प्रकाश की और बुराई पर अच्छाई की जीत होगी। वहीं पुतिन ने चेतावनी दी है कि यूक्रेन को हथियार मुक्त किए बगैर हमारी सेना के हमले नहीं रुकेंगे। मौजूदा वक्‍त में यूक्रेन में रूस की ओर से भीषण बमबारी जारी हैं।