चोरी की कारों के पार्टस खोलकर डीलरों को बेच देता था, गिरफ्तार

 

चोरी की कारों के पार्टस खोलकर डीलरों को बेच देता था, गिरफ्तार

क्राइम ब्रांच ने चोरी की कारें खरीदकर उसके पाटर्स खोलकर दिल्ली-एनसीआर व हरियाणा में स्पेयर पाटर्स डीलरों को बेचने वाले एक आरोपित को गिरफ्तार किया है। दो वाहन चोरों से आरोपित निर्धारित दर पर चोरी की कार खरीदता था।

नई दिल्ली,  संवाददाता। क्राइम ब्रांच ने चोरी की कारें खरीदकर उसके पाटर्स खोलकर दिल्ली-एनसीआर व हरियाणा में स्पेयर पाटर्स डीलरों को बेचने वाले एक आरोपित को गिरफ्तार किया है। दो वाहन चोरों से आरोपित निर्धारित दर पर चोरी की कार खरीदता था। ओएलएक्स एप के जरिए इसकी वाहन चोरों से जान पहचान हुई थी उसी के बाद वह उनसे चोरी की कार खरीदने लगा। इसकी निशानदेही पर नजफगढ़ स्थित गोदाम से चोरी के चार कारों के पाटर्स बरामद किए गए हैं।डीसीपी रोहित मीणा के मुताबिक गिरफ्तार किए गए आरोपित का नाम अमरप्रीत सिंह है। वह ओल्ड साहिबपुरा, तिलक नगर का रहने वाला है। 25 मार्च को क्राइम ब्रांच को सूचना मिली कि एक व्यक्ति जो चोरी के वाहन खरीद उसके पुर्जों को अलग कर स्पेयर पाटर्स डीलरों को बेचता है। उसने नजफगढ़ के ढिचाऊं कलां में किराए पर गोदाम लिया है। एसीपी अभिनेंद्र जैन, इंस्पेक्टर आलोक कुमार राजन के नेतृत्व में एसआई संदीप सिंह, एसआई सुरेंद्र, योगेश, हवलदार अजय, अशोक, राजेश गुप्ता, सिपाही कुलदीप, रामनिवास व संजीव की टीम ने वहां से अमरप्रीत सिंह उर्फ राजा को गिरफ्तार कर लिया। गोदाम की तलाशी लेने पर वहां से चोरी के वाहनों के कई पा‌र्ट्स बरामद किए गए।

इसकी गिरफ्तारी से बिंदापुर,डाबरी, विजय विहार व महरौली से चुराए गए चार बैगन आर के मामले को सुलझाने का दावा किया। अमरप्रीत सिंह दिल्ली विश्वविद्यालय से बीकॉम किया है। उसने नजफगढ़ के ढिचाऊं कलां गांव में किराए पर खाली प्लॉट में स्क्रैप का कारोबार शुरू किया। वह पहले पुरानी कारों को खरीद कर उसके पाटर्स अलग कर डीलरों को बेचता था। ओएलएक्स एप के जरिए अनिल गौतम और अनिल कुमार से संपर्क होने पर उसने उनसे चोरी के वाहनों सस्ती दर पर खरीद करना शुरू किया। अनिल गौतम और अनिल कुमार दिल्ली व हरियाणा से वाहन चोरी कर व चोरी के वाहन खरीदकर उसे निर्धारित दर पर अमरप्रीत सिंह को बेच देते थे।