ट्रेन से सामान भेजने वालों के लिए खुशखबरी, दिल्ली मंडल ने शुरू की सुविधा, जानिए अन्य डिटेल

 

दिल्ली मंडल ने पार्सल से एक दिन में रिकार्ड 3.42 करोड़ रुपये का राजस्व अर्जित किया है।

रेल से सामान भेजने के लिए यात्रियों व व्यापारियों को उसी दिन पार्सल कार्यालय जाना पड़ता था। कार्यालय में भीड़ के साथ ही लोगों को सामान बुक कराने में परेशानी होती थी। परेशानी से बचने के लिए लोग ट्रेन की जगह सड़क मार्ग से सामान भेजना पसंद करते थे।

नई दिल्ली  ,surender aggarwal। रेल से सामान भेजने के लिए अब अग्रिम बुकिंग की सुविधा शुरू हो गई है। इससे सामान भेजने वालों के साथ ही रेल प्रशासन को भी लाभ हो रहा है। दिल्ली मंडल में यह सुविधा शुरू हुई है। इस सुविधा के शुरू होने के बाद दिल्ली मंडल ने पार्सल से एक दिन में रिकार्ड 3.42 करोड़ रुपये का राजस्व अर्जित किया है।

रेल से सामान भेजने के लिए यात्रियों व व्यापारियों को उसी दिन पार्सल कार्यालय जाना पड़ता था। इससे पार्सल कार्यालय में भीड़ होने के साथ ही लोगों को सामान बुक कराने में परेशानी होती थी। इस परेशानी से बचने के लिए लोग ट्रेन की जगह सड़क मार्ग से सामान भेजना पसंद करते थे। दिल्ली मंडल ने इस परेशानी को दूर करने के लिए अग्रिम बुकिंग की सुविधा शुरू की है।

रेलवे अधिकारियों का कहना है कि माल भाड़ा से राजस्व बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं। विशेष पार्सल ट्रेनें चलाई जा रही है। इसके साथ ही पार्सल कराने में होने वाली परेशानी दूर की जा रही है। इसी कड़ी में पांच मार्च को दिल्ली मंडल ने पार्सल कार्यालयों में अग्रिम बुकिंग की सुविधा शुरू की है।

यह सुविधा शुरू होते ही तीन घंटे के भीतर सिर्फ पांच ट्रेनों नई दिल्ली-हावड़ा राजधानी एक्सप्रेस (12302 व12306), नई दिल्ली-गुवाहाटी राजधानी एक्सप्रेस (12424 ), नई दिल्ली-गुवाहाटी संपर्क क्रांति (22450) और नई दिल्ली-गुवाहाटी साप्ताहिक ट्रेन (14038) से 2.46 करोड़ रुपये का कुल राजस्व मिला है। इसे मिलाकर पांच मार्च को 3.42 करोड़ रुपये का राजस्व मिला। अधिकारियों का कहना है कि इस सेवा के अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं। ग्राहक रुचि दिखा रहे हैं। आने वाले दिनों में इस सेवा का ज्यादा लोग लाभ उठाएंगे।