ब्वायज स्कूल घुमारवीं में मिड-डे मील की तीन दालों व चावल का सैैंपल भरा, यहां के खाद्य पदार्थ भी जांचे जाएंगे

 

ब्‍वायज स्‍कूल घुमारवीं में आंगनबाड़ी केंद्र सहित मिड डे मील से सैंपल लिए गए। जागरण

Mid Day Meal Sampling बिलासपुर जिले के स्कूलों में मिड-डे-मील की गुणवत्ता बनी रहे इसके लिए खाद्य सुरक्षा विभाग ने सैंपल लेने शुरू कर दिए हैैं। वीरवार को विभाग की टीम ने राजकीय बाल वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला घुमारवीं के रसोईघर से तीन दालों व चावल का सैैंपल भरा है।

बिलासपुर, संवाददाता। Mid Day Meal Sampling, बिलासपुर जिले के स्कूलों में मिड-डे-मील की गुणवत्ता बनी रहे, इसके लिए खाद्य सुरक्षा विभाग ने सैंपल लेने शुरू कर दिए हैैं। वीरवार को विभाग की टीम ने राजकीय बाल वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला घुमारवीं के रसोईघर से तीन दालों व चावल का सैैंपल भरा है। इसके अलावा आंबेडकर नगर में स्थित आंगनबाड़ी केंद्रों से बिस्कुट, पंजीरी, सेवियां व मूंग की दाल का सैैंपल भरा। सभी सैंपल कंडाघाट स्थित प्रयोगशाला में भेजे जाएंगे।

खाद्य सुरक्षा विभाग के सहायक आयुक्त महेश कश्यप ने बताया कि जिले में समय-समय पर दुकानों का औचक निरीक्षण किया जा रहा है। इसके लिए घुमारवीं, झंडूता, नयना देवी व सदर क्षेत्र के लिए टीमों का गठन किया गया है। ये टीमें उक्त स्थानों पर जाकर खाद्य पदार्थों की जांच करने के साथ सैंपल भी एकत्रित कर रही हैं। उन्होंने बताया कि नलवाड़ी मेले में भी सभी दुकानों का निरीक्षण लगातार किया गया है। इस दौरान सभी दुकानों के लाइसेंस व सफाई व्यवस्था सही पाए गए हैैं।

अगर कोई दुकानदार बिना लाइसेंस खाद्य पदार्थ बेचता पाया गया तो उसके खिलाफ मौके पर ही कड़ी कार्रवाई की जाएगी। कुछ दिन पहले जिलेभर से भरे गए नामी कंपनी के किचन मसाला, नमकीन, देसी घी, मखाना, डाबर हनी, चना मसाला व तेल के सैंपल फेल हो गए हैैं। ये सैैंपल हरलोग, जुखाला व घुमारवीं से भरे गए थे। इन्हें जांच के लिए कंडाघाट स्थित प्रयोगशाला में भेजा गया था। विभाग ने दुकानदारों को नोटिस जारी कर 15 दिन में इस संदर्भ में जवाब मांगा ह

ै।