पंजाब में ऐतिहासिक जीत पर कुमार विश्वास को लड्डू खिलाने घर पहुंच गए केजरीवाल के विधायक, जानिये- फिर क्या हुआ

 

पंजाब में ऐतिहासिक जीत पर कुमार विश्वास को लड्डू खिलाने घर पहुंच गए केजरीवाल के विधायक, पढ़िये- फिर क्या हुआ

पंजाब में ऐतिहासिक जीत दर्ज करने वाली आम आदमी पार्टी के दिल्ली से विधायक नरेश बाल्यान बड़ी संख्या में अपने समर्थकों के साथ बृहस्पतिवार को कुमार विश्वास के घर पहुंच गए। वह यहां पर कुमार विश्वास को मिठाई खिलाना चाहते थे लेकिन पुलिस ने उन्हें सड़क पर ही रोक लिया।

नई दिल्ली/गाजियाबाद,  डिजिटल डेस्क। दिल्ली के बाद अब पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 में भी ऐतिहासिक और धमाकेदार जीत दर्ज करने वाले आम आदमी पार्टी के लिए दोहरी खुशी की बात है। एक ओर वह देश की तीसरी ऐसी राजनीतिक पार्टी बन गई है, जो एक के अलावा दूसरे राज्य में सरकार बनाने जा रही है तो दूसरी ओर आगामी कुछ महीनों में AAP को राष्ट्रीय पार्टी का दर्ज मिल जाएगा। वहीं, पंजाब में 117 में से 92 सीटें जीतने वाली आम आदमी पार्टी के दिल्ली से विधायक ने बृहस्पतिवार कुछ ऐसा किया कि गाजियाबाद के वसुंधरा इलाके में कवि कुमार विश्वास के घर के सामने यूपी पुलिस को मोर्चा संभालना पड़ा।

हुआ यूं कि पंजाब में ऐतिहासिक जीत के बाद आम  आदमी पार्टी के विधायक नरेश बाल्यान देश के जाने माने कवि कुमार विश्वास को मिठाई खिलाने दिल्ली से गाजियाबाद आए। इसके बाद गाजियाबाद में वसुंधरा स्थित घर जाने से पहले आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोक दिया। कार्यकर्ता कुमार विश्वास को पंजाब की जीत पर खुशी में मिठाई खिलाने के लिए जा रहे थे। हालांकि पुलिस के रोकने के बाद कार्यकर्ताओं ने उनके घर के सामने ही एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशी मनाई। 

आम आदमी पार्टी के उत्तम नगर के विधायक नरेश बालियान अन्य कार्यकर्ताओं को लेकर निकले थे। कार्यकर्ताओं ने कहा कि पंजाब चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी को हराने की कोशिश की गई थी। पंजाब की जनता ने आम आदमी पार्टी को समर्थन देकर बता दिया कि उनको केजरीवाल पर कितना विश्वास है। कुमार विश्वास भी आप का विरोध कर रहे थे। ऐसे में जीत होने पर वह कुमार विश्वास को मिठाई खिलाने आए थे। हालांकि अब उनसे बिना मिले ही लौट रहे हैं। दरअसल, पंजाब में मतदान से पहले कुमार विश्वास ने अरविंद केजरीवाल पर संगीन आरोप लगाए थे। उन्होंने कहा था कि वह पंजाब के सीएम या खालिस्तान के पहले पीएम बनने का ख्वाब देख रहे हैं। दरअसल, दिल्ली में नई शराब नीति लागू करने को लेकर AAP विधायक नरेश बाल्यान और  कुमार विश्वास के बीच ट्विटर वार हुआ था। 

ऐसे बढ़ा कुमार विश्वास और नरेश बाल्यान के बीच विवाद

दिल्ली की नई शराब नीति को लेकर कुछ महीने पहले अरविंद केजरीवाल के पुराने साथी रहे डा. कुमार विश्वास भ्रष्टाचार के आरोप लगाकर आलोचना की थी। कुमार विश्वास का ट्वीट सामने आने के बाद दिल्ली के आम आदमी पार्टी विधायक नरेश बाल्यान ने ट्वीट का जवाब दिया था। इससे पहले कुमार विश्वास ने एक ट्वीट के जरिये नई शराब नीति के सहारे दिल्ली सरकार पर करोड़ों के भ्रष्टाचार का आरोप जड़ दिया था। इसमें यानी कुमार विश्वास ने अपने ट्वीट में बताया था कि किस तरह दिल्ली में वार्ड-वार्ड मयखाना खुलवाने की राह तैयार हुई? ट्वीट में कुमार विश्वास ने  लिखा 'पीने वालों की उम्र 21 से 18 करने और 1000 नए ठेके खुलवाने की पॉलिसी लागू करने की सिफारिश लेकर 2016 में दिल्ली शराब माफिया, दारू जमाखोर विधायक के साथ मेरे पास आया था। मैंने दुत्कार कर भगाया था और दोनों नेताओं को चेताया था। अब छोटे वाले के साले ने 500 करोड़ की डील में मामला सैट कर लिया।' हालांकि, कुमार विश्वास ने इस ट्वीट में बिना किसी नेता का नाम लेते हुए इशारों में ही अपनी बात कही थी, लेकिन नरेश बाल्यान इसका ट्वीट के जरिये जवाब दिया था। उत्तमनगर विधानसभा से आम आदमी पार्टी के विधायक नरेश बाल्यान ने कुमार विश्वास के ट्वीट में गलत जानकारी को लेकर उन पर हमला बोला था। इसके साथ ही कुछ दिन पहले कुमार विश्वास ने बिना नाम लिए अरविंद केजरीवाल को अलगावादियों का समर्थक बता दिया था। इन्हीं दोनों मामलों को लेकर नाराज AAP विधायक नरेश बाल्यान पंजाब मेें पार्टी की ऐतिहासिक जीत के बाद कुमार विश्वास को मिठाई खिलाने पहुंच गए। इस दौरान उनके साथ कई गाड़ियों का काफिला दिल्ली से गाजियाबाद पहुंचा था।