आटो सवार दंपती कर रहे थे लूटपाट, दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार

 

कश्मीरी गेट इलाके में देहरादूर से आए पेंटिंग आर्टिस्ट को लिफ्ट देकर की लूटपाट।

पुलिस ने आरोपितों को 100 से अधिक सीसीटीवी कैमरों के फुटेज की जांच की तब जाकर आरोपित हाथ लगे। फिलहाल पुलिस आरोपितों के आपराधिक रिकार्ड की जानकारी जुटा रही है। आशंका जताई जा रही है कि आरोपितों द्वारा कई वारदातों को अंजाम दिया गया है।

नई दिल्ली,  संवाददाता। आटो में लिफ्ट देकर यात्रियों से लूटपाट करने वाले दंपति को कश्मीरी गेट थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपित अपने जानकार एक अन्य दंपति के साथ आपराधिक वारदात को अंजाम देते हैं। फिलहाल पुलिस उनकी तलाश कर रही है। गिरफ्तार किए गए आरोपित पुनीत और पूनम यूपी के गाजियाबाद जिले के लोनी स्थित लक्ष्मी गार्डन के रहने वाले हैं।

100 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे की जांच के बाद सामने आया कारनामा

पुलिस ने आरोपितों को 100 से अधिक सीसीटीवी कैमरों के फुटेज की जांच की तब जाकर आरोपित हाथ लगे। फिलहाल पुलिस आरोपितों के आपराधिक रिकार्ड की जानकारी जुटा रही है। आशंका जताई जा रही है कि आरोपितों द्वारा कई वारदातों को अंजाम दिया गया है।

बीच में बिठा कर दबा दिया गला

जानकारी के अनुसार, गत सोमवार तड़के करीब सवा चार बजे देहरादून से कश्मीरी गेट पहुंचे पेंटिंग आर्टिस्ट गगनदीप सचदेवा ने दक्षिणी दिल्ली स्थित घर जाने के लिए आटो किया। उस आटो की पीछे वाली सीट पर पहले से दो महिलाएं व एक व्यक्ति सवार था। एक महिला ने कहा उसे पहले उतरना है ऐसे में गगनदीप बीच में बैठ गए। कुछ दूर चलने के बाद आटो में बैठे व्यक्ति ने अचानक उनका गला दबा दिया और दोनों महिलाओं ने गगनदीप का पैर नीचे की तरफ दबा दिया।

मोबाइल और 10 हजार रुपये की हुई लूट

उसके बाद उनका मोबाइल और 10 हजार रुपये लूट ली। इसके बाद आरोपितों ने पीड़ित को बेहोश कर वजीराबाद इलाके में फेंक कर फरार हो गए। उत्तरी जिले के डीसीपी सागर सिंह कलसी के मुताबिक, मामले की जांच के लिए एसएसएचओ धमेंद्र कुमार के नेतृत्व में एसआइ मनीष सिंह, रणविजय, देवेंद्र योगेश, सोनू सिंह समेत अन्य की टीम का गठन किया गया।

सीसीटीवी कैमरों से मिला सुराग

पुलिस टीम ने 100 से अधिक सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाले तो उन्हें संदिग्ध आटो का नंबर मिला। उक्त आटो गाजियाबाद निवासी लाल सिंह शर्मा के नाम पर पंजीकृत था। ऐसे में पूछताछ करने पर पता चला कि उन्होंने आटो को किराये पर पुनीत काे दिया है। इसके बाद पुलिस ने पुनीत और उसकी पत्नी पूनम से अलग-अलग पूछताछ किया। आरोपितों ने बताया कि वे सुधीर और उसकी पत्नी भूरी उर्फ कोमल के साथ मिलकर आटो में लिफ्ट देने के बहाने लूटपाट करते थे। फिलहाल पुलिस सुधीर और उसकी पत्नी भूरी की तलाश कर रही है।