भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता के खिलाफ सदन में निंदा प्रस्ताव पास, FIR कराने की भी बात

 

Delhi Budget 2022: दिल्ली विभानसभा में AAP विधायकों ने लगाए भाजपा हाय-हाय के नारे

Delhi Budget 2022 भारतीय जनता पार्टी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता के एक बयान पर दिल्ली विधानसभा में सोमवार सदन शुरू होते ही जमकर हंगामा हुआ। आम आदमी पार्टी के विधायकों ने भाजपा हाय-हाय के नारे लगाए।

नई दिल्ली surender Aggarwal । दिल्ली विधानसभा में सोमवार को बजट सत्र की शुरुआत जोरदार हंगामे के साथ हुई, जो अब भी जारी है। इसके चलते दिल्ली विधानसभा के स्पीकर राम निवास गोयल ने भारतीय जनता पार्टी के तीन विधायकों अजय महावर, जितेंद्र महाजन और अनिल वाजपेई को शुरू में दिन भर के लिए निलंबित कर दिया, लेकिन नेता प्रतिपक्ष के अनुरोध पर निलंबन समाप्त किया गया। बावजूद इसके चलते बजट पर चर्चा नहीं हो पा रही है। वहीं, भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता के खिलाफ सदन में निंदा प्रस्ताव पास हो गया है। इस प्रस्ताव में आदेश गुप्ता के खिलाफ सदन की तरफ से मामला दर्ज कराने की भी बात कही गई है।

Updates:

  • सत्ता पक्ष के विधायक महेंद्र गोयल ने सदन में निंदा प्रस्ताव ऱखा है, जिसमें भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता के खिलाफ एफआइआर कराने की मांग की गई है।
  • AAP नेताओं का कहना है कि हम शरीफ लोग हैं वरना इस तरह के शब्दों का प्रयोग करने पर हमारे यहां गर्दन उतार दी जाती है, खून खौल रहा है आज।
  • वहीं, नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पर लगाया गया आरोप बेबुनियाद है।
  • राम वीर सिंह बिधूड़ी के अनुरोध पर भाजपा के तीनों सदस्यों का निलंबन रद कर दिया है।

सोमवार विधानसभा में बजट सत्र की शुरुआत होते ही सत्ता पक्ष के विधायकों ने जमकर हंगामा किया। वह दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता के बयान पर नारेबाजी कर रहे हैं। दिल्ली विधानसभा में आम आम आदमी पार्टी के विधायक लगातार 'भाजपा हाय-हाय' के नारे लगे। इस हंगामे के मद्देनजर स्पीकर राम निवास गोयल ने सदन को 15 मिनट के लिए  स्थगित किया।  इसके बाद स्पीकर रामनिवास गोयल ने महेंद्र गुप्ता को अपने कक्ष में बुलाया। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के बयान पर भाजपा से माफी मांगने की मांग कही जा रही है। हालांकि, दोबारा कार्यवाही शुरू होने पर बेंच पर खड़े होने के कारण स्पीकर ने भाजपा के तीन विधायकों अजय महावर, जितेंद्र महाजन और अनिल वाजपेई को दिन भर के लिए निलंबित कर दिया।

वहीं, इससे पहले भाजपा ने दिल्ली सरकार के बजट को काल्पनिक बजट बताया है। उसका कहना है कि पहले की तरह सिर्फ वादे किए गए हैं। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि दिल्लीवासियों को सिर्फ सपने दिखाए गए हैं। उनकी समस्या हल करने और दिल्ली के विकास के लिए ठोस कदम नहीं उठाए गए हैं। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि रोजगार बजट में रोजगार उपलब्ध कराने के लिए कोई ठोस कार्यक्रम या योजना नहीं है। बजट में जमीनी सच्चाई नहीं दिख रही है। सरकार स्वास्थ्य, शिक्षा, परिवहन, पर्यावरण, बिजली, पानी सहित सभी क्षेत्रों में विफल रही है। कोरोना संकट में सरकार के कुप्रबंधन से मरीजों का समय पर इलाज नहीं हुआ जिससे कई लोगों की मौत हो गई। सरकार इस सच्चाई से मुंह मोड़ रही है। आम आदमी पार्टी की सरकार के आने से पहले तैयार हुए अस्पतालों को बनाने का झूठा श्रेय लिया जा रहा है।

जिन पांच नए विश्वविद्यालयों को खोलने का दावा किया गया है उनमें से तीन पहले से ही कालेज के रूप में चल रहे थे और उनका सिर्फ नाम बदला गया है। अन्य दो विश्वविद्यालय अभी कागजों में हैं। प्रदेश भाजपा के पूर्व अध्यक्ष व रोहिणी के विधायक विजेंद्र गुप्ता ने बजट को दिशाहीन व काल्पनिक बताया है। उनका कहना है कि नौकरी सृजन सुनिश्चित करने के लिए कुछ नहीं कहा गया है। बजट से थोक व्यापारियों को निराशा हुई है। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण की समस्या को हल करने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है। वरिष्ठ नागरिकों की पेंशन पर ध्यान नहीं दिया गया है।