दिल्ली विधानसभा में जमकर हुआ हंगामा, RSS हाय-हाय और टुकड़े-टुकड़े गैंग के नाम पर आमने-सामने आए विधायक

 

सत्ता पक्ष आरएसएस हाय-हाय के नारे लगा रहा था जबकि भाजपा विधायक टुकड़े-टुकड़े गैंग की बात करते रहे।

सत्ता पक्ष के विधायक सोमनाथ भारती ने कहा कि मालवीय नगर के पार्क में आरएसएस के लोग तिरंगा नहीं फहराने दे रहे। उन्होंने कहा कि आरएसएस का राष्ट्रवाद छद्म है 52 साल से इसने तिरंगा नहीं बल्कि अपना ही झंडा फहराया है। भाजपा विधायकों ने इसका जमकर विरोध किया।

नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। दिल्ली विधानसभा में बृहस्पतिवार को आरएसएस के नाम पर हंगामा हुआ। विधानसभा में सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच इस बात को लेकर नारेबाजी शुरू हुई। सत्र के दौरान सत्ता पक्ष आरएसएस हाय-हाय के नारे लगा रहा था, जबकि भाजपा विधायक टुकड़े-टुकड़े गैंग की बात करते रहे।

दरअसल सत्ता पक्ष के विधायक सोमनाथ भारती ने कहा कि मालवीय नगर के पार्क में आरएसएस के लोग तिरंगा नहीं फहराने दे रहे। उन्होंने कहा कि आरएसएस का राष्ट्रवाद छद्म है, 52 साल से इसने तिरंगा नहीं, बल्कि अपना ही झंडा फहराया है। भाजपा विधायकों ने इसका जमकर विरोध किया। इसी के बाद दोनों पक्षों में खूब नारेबाजी हुई। विधासभा स्पीकर ने भाजपा विधायक विजेंद्र गुप्ता और जितेंद्र महाजन को मार्शल आउट किया। इसके बाद महाजन को दिन भर की कार्यवाही से भी निलंबित कर दिया गया।

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इसे बहुत गंभीर मसला बताया। उन्होंने कहा कि अगर कोई भाजपा नेता या पार्षद तिरंगा लगाने से रोकता है तो इससे बड़ा देशद्रोह नहीं हो सकता। कहा कि हम जान दे देंगे, लेकिन तिरंगा वहीं लहरायेंगे, भाजपा नेताओं को शर्म आनी चाहिए, देश से माफी मांगनी चाहिए।

वहीं, एक दिन पहले यानी बजट सत्र के पहले दिन दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के विधायकों ने विधानसभा में  फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ को कर-मुक्त किए जाने की मांग को लेकर उपराज्यपाल अनिल बैजल के अभिभाषण में व्यवधान डाला था। दिल्ली विधानसभा में अनिल बैजल ने जैसे ही अपना अभिभाषण शुरू किया तभी भाजपा विधायकों ने अपनी मांग के समर्थन में नारेबाजी शुरू कर दी। इस पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि उपराज्यपाल के अभिभाषण को बाधित करने के लिए भाजपा विधायकों ने शोर-शराबा करके अशोभनीय व्यवहार किया। उन्होंने विधायकों को भविष्य में इस तरह के व्यवहार को न दोहराने की हिदायत भी दी।