Ruchi Soya में हिस्‍सेदारी खरीदने का आ रहा है मौका, जानिए पूरी डिटेल

 

कंपनी पहले ही सेबी की मंजूरी ले चुकी है। (Pti)

पतंजलि की इकाई रुचि सोया 4300 करोड़ रुपये का फॉलो-ऑन पब्लिक ऑफर (एफपीओ) ला रही है। कंपनी ने कहा है कि एफपीओ 24 मार्च को पूंजी बाजार में उतरेगा। निवेशक इसके जरिए हिस्‍सेदारी ले सकते हैं। यह कंपनी बाजार में लिस्‍टेड है।

नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क । रुचि सोया के बोर्ड ने लगभग 4,300 करोड़ रुपये के अपने फॉलो-ऑन पब्लिक ऑफर (एफपीओ) के लिए रेड-हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (आरएचपी) को मंजूरी दे दी है। कंपनी ने शुक्रवार देर रात एक नियामक फाइलिंग में कहा कि एफपीओ 24 मार्च को पूंजी बाजार में उतरेगा। कंपनी ने यह भी बताया कि उसने शनिवार को कंपनी रजिस्ट्रार, महाराष्ट्र के पास आरएचपी दायर किया।

कंपनी ने फाइलिंग में य‍ह भी कहा कि 10 मार्च, 2022 को आयोजित अपनी बैठक में कंपनी के निदेशक मंडल की मंजूरी के साथ इश्यू कमेटी द्वारा दी गई मंजूरी के नोट को भी पढ़ा गया। बोर्ड की कमेटी ने 11 मार्च को सर्कुलेशन के लिए रिजॉल्‍यूशन भी पास किया।कंपनी ने बताया कि इश्यू 24 मार्च को खुलेगा और 28 मार्च (2022) को बंद होगा। एफपीओ के जरिये इस स्‍टेक सेल से स्‍वामी रामदेव के नेतृत्व वाली पतंजलि आयुर्वेद की इकाई रुचि सोया को न्यूनतम शेयरधारिता मानदंडों का पालन करने में मदद मिलेगी। पिछले साल अगस्त में, कंपनी को एफपीओ लॉन्च करने के लिए पूंजी बाजार नियामक सेबी की मंजूरी मिली थी। इसने जून 2021 में ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (DRHP) दाखिल किया था।

DRHP के अनुसार, रुचि सोया कुछ बकाया कर्ज के पुनर्भुगतान, अपनी कार्यशील पूंजी जरूरतों और अन्य सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों को पूरा करने के लिए ऑफर से होने वाली पूरी आय का इस्‍तेमाल करेगी। इससे कंपनी के व्यवसाय को विस्‍तार में मदद मिलेगी। 2019 में पतंजलि ने 4,350 करोड़ रुपये में एक दिवाला प्रक्रिया के जरिए रुचि सोया का अधिग्रहण किया था, जो स्टॉक एक्सचेंजों में सूचीबद्ध है।

रुचि सोया की फाइलिंग के मुताबिक प्रमुख खाद्य तेल कंपनी में इस समय प्रमोटरों की करीब 99 फीसदी हिस्सेदारी है। कंपनी को एफपीओ के इस ऑफर में कम से कम 9 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की जरूरत है। इससे कंपनी को कारोबार के विस्‍तार में मदद मिलेगी।