दिल्ली की नई आबकारी नीति गुरुग्राम के शराब कारोबारियों पर भारी, 50 फीसद लुढ़का काम, उठने लगी ये नई मांग

 

साइबर सिटी की अपेक्षा दिल्ली में काफी सस्ती हो गई शराब।

अब नई आबकारी नीति लागू होने के बाद से दिल्ली में शराब की कीमत गुरुग्राम की अपेक्षा काफी सस्ती हो गई। इससे ग्राहकों का रुख दिल्ली की तरफ बढ़ने लगा है। ठेकों से लेकर पब-बार का कारोबार प्रभावित हो रहा है।

गुरुग्राम । दिल्ली की नई आबकारी नीति साइबर सिटी के शराब कारोबार पर भारी पड़ रही है। कारोबार 50 फीसद तक लुढ़क चुका है। न केवल दिल्ली से ग्राहक आने लगभग बंद हो गए हैं बल्कि गुरुग्राम के ग्राहक दिल्ली पहुंचने लगे हैं। इसे देखते हुए हरियाणा में भी लाइसेंस फीस और एक्साइज ड्यूटी में कटौती किए जाने की मांग शुरू हो गई है।

साइबर सिटी को होटलों के साथ ही पब-बार का भी हब माना जाता है। प्रदेश सरकार को शराब के कारोबार से हर साल दो हजार करोड़ रुपये से अधिक का राजस्व गुरुग्राम से प्राप्त होता है। जमकर कारोबार चलने के पीछे मुख्य कारण था दिल्ली की अपेक्षा गुरुग्राम में शराब की कीमत कम होना या फिर बराबर होना। अब नई आबकारी नीति लागू होने के बाद से दिल्ली में शराब की कीमत गुरुग्राम की अपेक्षा काफी सस्ती हो गई। इससे ग्राहकों का रुख दिल्ली की तरफ बढ़ने लगा है। ठेकों से लेकर पब-बार का कारोबार प्रभावित हो रहा है।

होटलों के ऊपर भी असर होने लगा है। साइबर हब सहित विभिन्न इलाकों में संचालित पब-बार में प्रतिदिन हजारों ग्राहक दिल्ली से पहुंचते थे। अब संख्या काफी कम हो गई है। दिल्ली के सीमावर्ती इलाकों के लोग गुरुग्राम के ठेकों से ही शराब खरीदकर ले जाते थे। अब वे नहीं आ रहे हैं। कारोबार से जुड़े लोगों का कहना है कि हरियाणा सरकार को भी लाइसेंस फीस और एक्साइज ड्यूटी में कटौती करनी होगी, अन्यथा कारोबार चौपट हो जाएगा।

12 जून से शुरू होगा वित्तीय वर्ष

कोरोना संकट की वजह से गत वर्ष 12 जून से आबकारी विभाग का वित्तीय वर्ष चालू हुआ था। ऐसे में 12 जून से पहले आबकारी नीति में बदलाव संभव नहीं। नई आबकारी नीति वित्तीय वर्ष चालू होने के साथ लागू करने का प्रविधान है। दिल्ली में नई आबकारी नीति एक अप्रैल से लागू हो गई।

लाइसेंस फीस में की जाए कटौती

हाेटल्स एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन आफ हरियाणा के अध्यक्ष मनबीर चौधरी का कहना है कि वो प्रदेश सरकार से मांग करते हैं कि दिल्ली की आबकारी नीति को देखते हुए हरियाणा में भी लाइसेंस फीस और एक्साइज ड्यूटी में कटौती की जाए। यदि ऐसा नहीं किया गया तो कारोबार खासकर गुरुग्राम का कारोबार पूरी तरह समाप्त हो जाएगा। गुरुग्राम से दिल्ली आसानी से लोग पहुंच सकते हैं।

50 फीसद लुढ़क गया कारोबार

गुरुग्राम के आबकारी उपायुक्त अनिरुद्ध शर्मा का कहना है कि यह सच्चाई है कि दिल्ली में शराब सस्ती होने से गुरुग्राम में कारोबार 50 फीसद लुढ़क गया है। कारोबार का सीधा सा फंडा है, जहां कीमत कम होगी वहां डिमांड बढ़ेगी। दिल्ली में कीमत कम है इसलिए ग्राहक उस तरफ जाने लगे हैं। इससे भारी नुकसान होगा।