गहलोत सरकार मंदिरों में हनुमान चालिसा,रामायण और सुन्दरकाण्ड के पाठ करवाएगी

 

गहलोत सरकार मंदिरों में हनुमान चालिसा,रामायण और सुन्दरकाण्ड के पाठ करवाएगी

भाजपा लगा रही कांग्रेस सरकार पर तुष्टिकरण का आरोपजयपुर के एक मंदिर में हुई भागवत कथा में खुद रावत अधिकारियों के साथ शामिल हुई थी। भाजपा के सतीश पूनिया गुलाब चन्द कटारिया ने आरोप लगाया कि गहलोत सरकार जाति और धर्म के नाम पर तुष्टिकरण की राजनीति कर रही है।

 संवाददाता, जयपुर। तुष्टिकरण के आरोप झेल रही राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार रामनवमी (10 अप्रैल) और हनुमान जयन्ती (16अप्रैल) को मंदिरों में रामायण, सुन्दरकाण्ड और हनुमान चालिसा के पाठ करवाएगी। रामनवमी और हनुमान जयंती के मौके पर मंदिरों में अन्य धार्मिक अनुष्ठान भी आयोजित करवाए जाएंगे। इसके लिए देवस्थान विभाग ने आदेश जारी किए हैं। देवस्थान विभाग के अधीन आने वाले प्रदेश के सभी मंदिरों में रामनवमी को रामायण एवं हनुमान जयन्ती के मौके पर सुन्दरकाण्ड व हनुमान चालिसा के पाठ करवाए जाएंगे।देवस्थान मंत्री शकुन्तला रावत और सचिव विकास भाले सहित विभाग के अधिकारी इन आयोजनों में शामिल होंगे। जनप्रतिनिधियों को भी इन आयोजनों में शामिल होने के लिए आमन्त्रित किया जाएगा। आयोजनों के लिए दानदाताओं व जनप्रतिनिधियों से आर्थिक सहयोग लेने को लेकर देवस्थान विभाग के आयुक्त करणी सिंह ने सभी सहायक आयुक्तों को निर्देश दिए हैं। उल्लेखनीय है कि इससे पहले महाशिवरात्री के मौके पर मंदिरों में भागवत कथा का आयोजन किया गया था। जयपुर के एक मंदिर में हुई भागवत कथा में खुद रावत अधिकारियों के साथ शामिल हुई थी। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया और विधानसभा में विपक्ष के नेता गुलाब चन्द कटारिया ने आरोप लगाया कि गहलोत सरकार जाति और धर्म के नाम पर तुष्टिकरण की राजनीति कर रही है।

सरकारी भवनों और सार्वजनिक स्थानों पर नहीं लगेगी झंडिया

करौली में पिछले सप्ताह नवसंवत्सर के मौके पर हिन्दूवादी संगठनों द्वारा निकाली गई बाइक रैली पर हुए पथराव के बाद प्रदेश के सभी जिला कलेक्टरों ने सार्वजनिक पार्क, चौराहों,सरकारी भवनों, बिजली और टेलिफोन के खम्भों पर धार्मिक झंडिया लगाने पर रोक लगाने के आदेश जारी किए हैं। यह आदेश 7 अप्रैल से एक महीने तक लागू होंगे। सरकार के निर्देश के बाद अजमेर जिला कलेक्टर अंशदीप ने आदेश जारी कर कहा कि यदि कोई सार्वजनिक स्थलों पर झंडिया और धार्मिक बैनर लगाएगा तो उसके खिलाफ भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी। भीलवाड़ा जिला कलेक्टर आशीष मोदी ने भी इसी तरह के आदेश जारी किए हैं। मोदी द्वारा जारी किए गए आदेश के बावजूद बृहस्पतिवार को कुछ लोगों ने सार्वजनिक स्थलों पर केसरियां झंडिया लगाई तो उन्हे देर रात नगर परिषद के कर्मचारियों ने हटाया। दरअसल, राज्य के गुप्तचर ब्यूरो तक सूचना पहुंची थी कि आगामी दिनों में रामनवमी, हनुमान जयंती और रमजान के महीने में साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की घटना हो सकती है। करौली में इसकी शुरूआत हो चुकी है।