अप्रैल में बंट रहा मार्च के दूसरे चरण का राशन, भ्रमित हो रहे कार्ड धारक

 

मार्च के दूसरे चरण में दिए जाने वाला राशन इस बार अप्रैल के पहले सप्ताह में बंट रहा है।

इस समय पूरे प्रदेश में मार्च महीने के दूसरे चरण का राशन वितरित हो रहा है जिसको लेकर लाभार्थियों में असमंजस की स्‍थिति बनी हुयी है कि कहीं ये अप्रैल माह का राशन तो नहीं। मामले में अफसरों के पास भी फोन आ रहे हैं।

अलीगढ़,  संवाददाता। केंद्र सरकार की तरफ से मार्च के दूसरे चरण में दिए जाने वाला राशन इस बार अप्रैल के पहले सप्ताह में बंट रहा है। शनिवार से इस राशन वितरण की शुरुआत हुई थी। शुरआत के दो दिनों में ही 20 प्रतिशत के करीब कार्ड धारकों ने राशन ले लिया है। हालांकि, कार्ड धारक इस बार राशन को लेकर भ्रमित हो रहे हैं।

तमाम कार्ड धारकों को लग रहा है कि यह अप्रैल के पहले चरण का राशन है। ऐसे में मार्च के दूसरे चरण के राशन को लेकर सवाल उठा रहे हैं। अफसरों के पास भी इस तरह के तमाम फोन आ रहे हैं। ऐसे में खाद्य एवं रसद विभाग की तरफ से स्पष्ट किया गया है कि यह मार्च के दूसरे चरण का ही राशन है। अलीगढ़ के साथ ही पूरे प्रदेश में देरी से इसका वितरण हो रहा है। डीएसओ शिवाकांत पांडेय ने बताया कि जिले में कुल 1343 राशन की दुकानें हैं। इन सभी दुकानों से करीब साढ़े छह लाख कार्ड धारक राशन लेते हैं।

महीने में दो बार हो रहा राशन वितरण

केंद्र व प्रदेश सरकार की तरफ से इन दिनों महीने में दो बार राशन का वितरण किया जा रहा है। इसमें महीने की शुरुआत में प्रदेश सरकार राशन बांटती है तो दूसरे चरण में केंद्र सरकार राशन देती है। प्रदेश सरकार की तरफ से राशन में गेहूं-चावल के साथ रिफाइंड, चना व नमक का आवंटन भी होता है। पूरे प्रदेश में इसकी आपूर्ति की जिम्मेदारी नेफेड को दे रखी है। मार्च के पूरे महीने प्रदेश सरकार की तरफ वाले राशन का ही वितरण हुआ। ऐसे में केंद्र सरकार की तरफ से बंटने वाला महीने का दूसरे चरण का राशन नहीं बंट सका। अब इसकी वितरण किया जा रहा है। फिलहाल जिले में जो राशन बंट रहा है, वह मार्च के दूसरे चरण है। जल्द ही अप्रैल के पहले चरण का राशन भी बंटेगा। पूरे प्रदेश में ही इस बार देरी से राशन बंट रहा है। उन्‍होंने बताया कि इस वितरण में कार्ड धारकों को गेहूं चावल दिए जा रहे हैं। पांच किलो प्रति यूनिट राशन मिल रहा है। इसमें दो किलो चावल व तीन किलो गेहूं शामिल हैं।

यह है स्‍थिति

जिले में कुल कोटेदारों की संख्या :1343

नगरीय क्षेत्र में कोटेदार की संख्या: 198

कुल राशन कार्ड धारक : साढ़े छह लाख लगभग

कुल राशन कार्ड धारक उपभोक्ता-27,19,770

शहर में राशन कार्ड धारकों की संख्या : 1,79,884

शहर में राशन कार्ड धारकों के सदस्यों की संख्या : 7,78,997

कुल अंत्योदय कार्ड धारक : 24595