राकेश टिकैत जम्मू में भारत-पाक जीरो लाइन का दौरा कर बोले- पाकिस्तानी गोलीबारी से मरने वाले किसानों को मिले बलिदान का दर्जा

 

राकेश टिकैत जम्मू के सीमावर्ती क्षेत्रों में किसानों की समस्याओं का जायज लेने पहुंचे।

भारतीय किसान यूनियन नेता राकेश टिकैत बुधवार को भारत पाक सीमा पर स्थित सुरक्षा बल पोस्ट आक्ट्राय पर पहुंचे। इस दौरान उनके साथ जिला विकास परिषद सदस्य तरनजीत सिंह टोनी ऑल जेएंडके जाट महासभा प्रधान व पूर्व मेयर चौ मनमोहन सिंह भी मुख्य रूप से मौजूद रहे।

आरएसपुरा, संवाद सहयोगी। भारतीय किसान यूनियन नेता राकेश टिकैत बुधवार को भारत पाक सीमा पर स्थित सुरक्षा बल पोस्ट आक्ट्राय पर पहुंचे। इस दौरान उनके साथ जिला विकास परिषद सदस्य तरनजीत सिंह टोनी, ऑल जेएंडके जाट महासभा प्रधान व पूर्व मेयर चौ मनमोहन सिंह भी मुख्य रूप से मौजूद रहे। किसान नेता इस दौरान भारत-पाक सीमा पर जीरो लाइन तक पहुंच कर सीमा के बारे में जानकारी ली।

उन्होंने सुरक्षा बल जवानों व सीमांत किसानों से भी मुलाकात कर उनकी समस्याओं के बारे में जानने का प्रयास किया। बाद में पत्रकारों से बात करते हुए किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि वो पाकिस्तान से कहना चाहते है कि वो सीमा पर शांति बनाए रखे। उन्होंने कहा कि सीमा पर भारतीय सीमा सुरक्षा बल की ओर से तारबंदी की गई है, लाइटें भी लगवाई गई है पर बावजूद इसके पाकिस्तान हमारे के लिए परेशानी बना हुआ है। उन्होंने कहा कि सीमा पर गोलीबारी से जहां के किसानों को नुकसान उठाना पड़ता है।उन्होंने कहा कि सीमा पर गोलीबारी के कारण के किसान अपनी जान गवां चुके हैं और वह केंद्र सरकार से मांग करते हैं कि गोलीबारी में मरने वाले इन किसानों को शहीद का दर्जा दिया जाए। उन्होंने कहा कि किसान यूनियन की ओर से लगातार सीमांत किसानों की समस्याओं को केंद्र सरकार के समक्ष पहले भी रखा गया है और आगे भी वो जहां के किसानों की समस्याओं को रखेंगा। उन्होंने देश में बढ़ती महंगाई को लेकर भी केंद्र सरकार की निंदा की। उन्होंने कहा कि सरकार चाहे तो महंगाई को रोक सकती है। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों पांच राज्य में चुनाव थे तो महंगाई क्यों नहीं बढ़ी लेकिन जैसे ही चुनाव समाप्त हुए महंगाई एकदम बढ़ गई। इसका मतलब है कि इसके पीछे सरकार है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार चाहे तो इस महंगाई को रोक सकती है। उन्होंने लगातार बढ़ती महंगाई ने आम से लेकर किसानाें को परेशान कर दिया है।

किसान नेता राकेश टिकैत से इसके साथ ही कश्मीर घाटी में लगातार बढ़ रहे आंतकी घटनों पर बोलते हुए कहा कि आतंकियों का मुख्य मकसद लोगों को डराना है। उन्होंने कहा कि वहां के किसान भी इस कारण परेशान है। लगातार किसान यूनियन उन किसानों से बात करती है और प्रयास कर रही है की उनकी समस्याओं को सुलझाया जाए। इस दौरान पूर्व सरपंच व कांग्रेस नेता गुरमीत सिंह बाजवा,सरपंच गुरदयाल सिंह,सरपंच शाम लाल,सरपंच शशि कुमार सहित काफी संख्या में स्थानीय किसान भी मौजूद रहे।