राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की बेटियों के खिलाफ अमेरिकी प्रतिबंधों से क्रेमलिन हैरान

 

व्लादिमीर पुतिन की दोनों युवा बेटियां कतेरीना और मारिया पर अमेरिका ने लगाया प्रतिबंध

अमेरिका ने राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की बेटियों के खिलाफ प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है जिसपर क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने संवाददाताओं से कहा बेशक हम इन प्रतिबंधों को अपने आप में प्रतिबंध लगाने पर एक पूरी तरह से कठोर स्थिति का विस्तार मानते हैं।

वाशिंगटन, रायटर।‌ रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध थमने का नाम नहीं ले रहा है। घातक स्थिति में पहुंच चुकी दोनों देशों की लड़ाई एक गंभीर मोड़ पर पहुंच चुकी है। वहीं 24 फरवरी को यूक्रेन पर आक्रमण करने के बाद से अमेरिका सहित ब्रिटेन, यूरोपीय संघ और अन्य देशों ने रूस के खिलाफ ढेरों प्रतिबंध लगाया है, जो दिन-ब-दिन और भी गहराता जा रहा है। अमेरिका शुरू से रूस-यूक्रेन युद्ध में रूस के खिलाफ कड़े कदम उठा रहा है। अब अमेरिका ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की बेटियों के खिलाफ प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है, जिससे क्रेमलिन हैरान हैं।संयुक्त राज्य अमेरिका ने बुधवार को घोषणा कर कहा था कि वह यूक्रेन आक्रमण को लेकर रूस पर प्रतिबंधों की एक नई स्लेट लगाएगा, जिसमें प्रतिबंधों की नई सूची में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की दोनों युवा बेटियों को लक्षित किया जाएगा।‌

जिसपर क्रेमलिन ने गुरुवार को अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की बेटियों के खिलाफ प्रतिबंध लगाने के अमेरिकी फैसले से हतप्रभ था, वहीं इस कदम को रूस के खिलाफ व्यापक पश्चिमी उन्माद का हिस्सा बताया।

आपको बता दें कि यूक्रेन में सैन्य हस्तक्षेप पर मास्को के खिलाफ ताजा अमेरिकी प्रतिबंधों ने बुधवार को रूसी बैंकों और कुलीन वर्ग को निशाना बनाया, जिसमें राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की दोनों युवा बेटियां कतेरीना और मारिया शामिल हैं। इस प्रतिबंध का कारण अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि उनकी बेटीयां अपने पिता के धन को छिपा रही हैं।

क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने कहा

क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने कहा, 'किसी भी मामले में, परिवार के सदस्यों के खिलाफ प्रतिबंध लगाने पर चल रही लाइन अपने लिए बोलती है।' पेसकोव ने आगे कहा कि क्रेमलिन समझ नहीं पा रहा है कि पुतिन की बेटियों को क्यों निशाना बनाया जाएगा। 'यह कुछ ऐसा है जिसे समझना और समझाना मुश्किल है।' उन्होंने कहा, 'दुर्भाग्य से, हमें ऐसे विरोधियों से निपटना होगा।'