भाजपा ने काटा टिकट तो निर्दलीय लड़कर दोबारा जीते सच्चिदानंद राय

 

जीत के बाद विक्ट्री साइन दिखाते इं. सच्चिदानंद राय

एमएलसी व निर्दलीय प्रत्याशी इं. सच्चिदानंद राय ने प्रथम वरीयता के वोटों की गिनती में ही जीत का जादुई आंकड़ा हासिल कर लिया। निर्वाचित विधान पार्षद ने आमने-सामने की लड़ाई में राजद उम्मीदवार सुधांशु रंजन को 837 वोटों के अंतर से पराजित किया।

 संवाददाता, छपरा : विधान परिषद के स्थानीय प्राधिकार का चुनावी शोर सारण में गुरुवार को मतगणना के साथ थम गया। यहां के सीटिंग एमएलसी व निर्दलीय प्रत्याशी इं. सच्चिदानंद राय ने दोबारा जीत का पताका फहराया। उन्होंने प्रथम वरीयता के वोटों की गिनती में ही जीत का जादुई आंकड़ा हासिल कर लिया। निर्वाचित विधान पार्षद ने आमने-सामने की लड़ाई में अपने निकटतम प्रतिद्वंदी व राजद उम्मीदवार सुधांशु रंजन को 837 वोटों के अंतर से पराजित किया। विजेता पार्षद को कुल 2819 वोट मिले, जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंदी रहे राजद उम्मीदवार को 1982 वोटों से ही संतोष करना पड़ा। विजयी घोषित किए जाने के बाद प्रेक्षक विनय कुमार की मौजूदगी में डीएम सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी राजेश मीणा ने उन्हें प्रमाण पत्र दिया। मतगणना के दौरान सुरक्षा व्यवस्था को लेकर एसपी संतोष कुमार लगातार मानिटरिंग कर रहे थे। सुरक्षा को लेकर व्यापक इंतजाम किए गये थे।

बीजेपी प्रत्याशी धर्मेंंद्र सिंह तीसरे नंबर पर

परिणाम बताते हैं कि सारण सीट पर चुनावी जंग सीटिंग एमएलसी और राजद प्रत्याशी के साथ सीधी रही। बीजेपी प्रत्याशी धर्मेंद्र कुमार सिंह को महज 254 वोट मिले और वे तीसरे स्थान पर रहे। सूबे की सत्ताधारी बीजेपी उम्मीदवार का कुल वोट विजेता प्रत्याशी के जीत के अंतर से भी कम रहा। बीजेपी प्रत्याशी की तरह ही कांग्रेस के सुशांत कुमार सिंह और वीआइपी के बाल मुकुंद चौहान भी चुनावी लड़ाई से बाहर रहे। कांग्रेस प्रत्याशी मात्र 30 और वीआइपी उम्मीदवार को 24 वोट ही मिले। इन दोनों दलीय उम्मीदवारों से अधिक 50 वोट तो चौथे नंबर पर रहे निर्दलीय प्रत्याशी संजय कुमार सिंह को मिला।

डेढ़ सौ से अधिक वोटरों के मत हो गए रद

सारण में एमएलसी के इस चुनाव में वोटरों की कुल संख्या 5450 थी। इसमें 103 वोटरों ने मतदान नहीं किया। कुल वोटिंग 5337 हुई थी। मतगणना में 168 वोटरों के मत उनकी गलत वोटिंग की वजह से निर्वाची पदाधिकारी ने रद कर दी। कुल 5167 वैध मतों की गिनती हुई। विजेता प्रत्याशी को कुल वैध मतों से आधे से एक अधिक वोट यानि करीब 2585 मतों की जरूरत थी। प्रथम वरीयता के वोटों की गिनती में ही विजेता निर्दलीय प्रत्याशी ने 2819 मत प्राप्त कर जीत के लिए निर्धारित वोट से अधिक अंक हासिल कर लिया। इस तरह द्वितीय वरीयता वाले वोटों की गिनती की जरूरत ही नहीं पड़ी और सच्चिदानंद राय विजयी घोषित कर दिए गए।

आठ प्रत्याशियों को मिले वोट

प्रत्याशी- पार्टी -वोट

इ. सच्चिदानंद राय निर्दलीय 2819

सुधांशु रंजन राजद 1982

धर्मेंद्र कुमार सिंह बीजेपी 254

संजय कुमार सिंह निर्दलीय 50

सुशांत कुमार सिंह कांग्रेस 30

बाल मकुंद चौहान वीआइपी 24

लालू प्रसाद यादव निर्दलीय 07

मैनेजर सिंह निर्दलीय 03