धोखाधड़ी के मामले में स्पाइस-जेट एयरलाइन के प्रमोटर अजय सिंह को मिली बड़ी राहत

 

धोखाधड़ी के मामले में स्पाइस-जेट एयरलाइन के प्रमोटर अजय सिंह को मिली बड़ी राहत

एयरलाइन के शेयरों को कुछ व्यक्तियों को हस्तांतरित करने से जुड़े धोखाधड़ी के मामले में स्पाइसजेट के प्रमोटर अजय सिंह को दिल्ली हाई कोर्ट ने बड़ी राहत दी है। हाई कोर्ट ने बुधवार को मामले में सुनवाई के बाद निर्णय सुरक्षित रख लिया था।

नई दिल्ली A.k.Aggarwal। एयरलाइन के शेयरों को कुछ व्यक्तियों को हस्तांतरित करने से जुड़े धोखाधड़ी के मामले में स्पाइसजेट के प्रमोटर अजय सिंह को दिल्ली हाई कोर्ट ने बड़ी राहत दी है। न्यायमूर्ति अनूप कुमार मेंदीरत्ता की पीठ ने दिल्ली पुलिस व शिकायकर्ता का पक्षा सुनने के बाद अजय सिंह को गिरफ्तारी से अंतरिम संरक्षण प्रदान किया।पीठ ने मामले की सुनवाई 24 मई तक के लिए स्थगित करते हुए सिंह को जांच में शामिल होने का निर्देश दिया।

बीते दिनों साकेत कोर्ट ने यह कहते हुए सिंह को अग्रिम जमानत देने से इन्कार कर दिया था कि अपराध की गंभीरता को देखते हुए राहत नहीं दी जा सकती है। हाई कोर्ट ने बुधवार को मामले में सुनवाई के बाद निर्णय सुरक्षित रख लिया था।

दिल्ली के एक व्यवसायी ने शिकायत देकर आरोप लगाया था कि उनके और सिंह के बीच दस लाख शेखर के बदले दस लाख रुपये देने के संबंध में शेयर खरीद समझौता हुआ था। इसके तहत उन्होंने रुपये का भुगतान किया था।हालांकि, इन शेयरों को स्थानांतरित नहीं किया गया और इसी वजह से उन्होंने अजय सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई थी।शिकायतकर्ता ने दावा किया था कि सिंह ने बेईमानी से पुरानी और अमान्य डिलीवरी निर्देश पर्ची उन्हें सौंप दी।

अजय सिंह की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता सिद्धार्थ लूथरा ने पीठ के समक्ष दलील दी कि उनसे हिरासत में पूछताछ की कोई जरूरत नहीं है और उनके मुवक्किल के फरार नहीं होंगे। साथ ही जांच में सहयोग कर रहे हैं।वहीं, शिकायतकर्ता की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता विकास पाहवा ने अग्रिम जमानत याचिका का विरोध करते हुए कहा था कि मामला गंभीर है और अग्रिम जमानत न दी जाए