नव संवत्सर के शुभारंभ पर दत्तात्रेय होसबाले ने कहा, हिंदू धर्म व संस्कृति के संरक्षण का लें संकल्प

 

आरएसएस के संस्थापक के जीवन से प्रेरणा लेने की है जरूरत : दत्तात्रेय होसबाले (फाइल फोटो)

इस बार का नवसंवत्सर उत्सव बेहद खास रहा। कोरोना संक्रमण की पाबंदियों के कारण दो वर्ष से यह उत्सव नहीं मनाया जा पा रहा था। दो वर्ष बाद भारतीय नववर्ष का उत्सव (नवसंवत्सर) समारोह के साथ मनाया गया।

 नई दिल्ली। नव संवत्सर शुभारंभ के अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबाले ने दिल्ली से जारी अपने वीडियो संदेश में कहा कि नववर्ष का उत्सव मनाते हुए हमें हिंदू धर्म, संस्कृति और समाज के संरक्षण का संकल्प लेने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हम सभी को संघ के संस्थापक डा. केशव बलिराम हेडगेवार के जीवन से सेवा, समर्पण और देशभक्ति की प्रेरणा लेनी चाहिए। वर्ष प्रतिपदा के दिन ही उनका जन्म हुआ था। सरकार्यवाह ने कहा कि कोरोना के कारण पिछले दो वर्ष हमलोग नववर्ष का उत्सव ठीक से नहीं मना पाए। इस बार भारतीय नववर्ष का उत्सव नए उल्लास और हर्ष के साथ मनाएं। चैत्र शुक्ल प्रतिपदा के दिन ही भारतीयों के लिए और हिंदुओं के लिए नववर्ष प्रारंभ होता है। भारतीयों के साथ साथ विश्व के लिए यह वर्ष अच्छा रहेगा। उन्होंने कहा कि विश्व में अशांति, युद्ध की स्थिति और तनाव जैसी परिस्थितियों से मुक्त होकर हम समूची मानवता के लिए सुख, शांति और समृद्धि प्राप्त करके एक नए अध्याय का प्रारंभ करेंगे।

इस बार का नवसंवत्सर उत्सव खास रहा। कोरोना संक्रमण की पाबंदियों के कारण दो वर्ष से यह उत्सव नहीं मनाया जा पा रहा था। दो वर्ष बाद भारतीय नववर्ष का उत्सव (नवसंवत्सर) समारोह के साथ मनाया गया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों ने पथ संचलन और शोभायात्रा निकालकर इस अवसर को और भी खास बनाया। जगह-जगह सामूहिक कार्यक्रमों में स्वयंसेवकों ने शारीरिक प्रदर्शन भी किया। वहीं, कई जगह सुबह तालाबों में दीप दान कर लोग नववर्ष का स्वागत करते नजर आए। सुबह से ही एक-दूसरे को नववर्ष की बधाई देने का भी सिलसिला जारी रहा।

चार अप्रैल से देहरादून में होगी संघ की चिंतन बैठक

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की चिंतन बैठक चार से 11 अपै्रल तक उत्तराखंड के देहरादून के रायवाला स्थित आरोवैली आश्रम में होगी। बैठक में संघ प्रमुख मोहन भागवत के साथ ही संघ की समूची अखिल भारतीय कार्यकारिणी भाग लेगी। चिंतन बैठक में संघ के विस्तार और आगामी कार्यक्रमों को लेकर चर्चा होगी। इस बीच पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने शनिवार शाम को आरोवैली आश्रम पहंुचकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। उन्होंने संघ प्रमुख के रूट प्लान के अनुसार की गई व्यवस्था का निरीक्षण किया और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। उधर, प्रशासन भी इस महत्वपूर्ण बैठक को लेकर चौकन्ना है।