बेटे की हत्या के चश्मदीद बुजुर्ग पिता की भी गोली मारकर हत्या, कंझावला इलाके में बाइक सवार बदमाशों ने वारदात को दिया अजाम

 

वर्ष 2020 में बेटे की कर दी गई थी हत्या और अब पिता की भी हो गई हत्या।

वर्ष 2020 में रामेश्वर के बेटे सोमवीर की गोली मर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में वह चश्मदीद गवाह थे।। इस मामले में कोर्ट में जल्द ही उनकी गवाही होेने वाली थी। ऐसे मेें कोर्ट में उन्हें गवाही से मुकरने की धमकी मिल रही थी।

नई दिल्ली,  संवाददाता। कंझावला इलाके में बदमाशों ने बुजुर्ग की गोली मार हत्या कर दी। वह बेटे की हत्या के मामले में चश्मदीद गवाह थे। घटना रविवार रात की है। इस बाबत कंझावला थाने में मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है और शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल में रखवा दिया गया है।

जानकारी के अनुसार 63 वर्षीय रामेश्वर घेवड़ा गांव में रहते थे। वह परचून की दुकान चलाते थे। दुकान उनके घर के अगले हिस्से में है। बताया जाता है कि रविवार की रात करीब नौ बजे वह दुकान के बाहर खडे़ थे। तभी मोटरसाइकिल सवार तीन हमलावर पहुंचे और उन्हाेंने बुजुर्ग पर फायरिंग शुरू कर दी। जिससे उन्हें गोलियां लगीं और वह गंभीर रूप से घायल होकर गिर पड़े। इसके बाद हमलावर मौके से भाग गए। गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग मौके पर पहुंचे और नजदीकी अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उनकी मौत हो चुकी थी।

जेल से मिल रही थी धमकी

बताया जाता है कि वर्ष 2020 में रामेश्वर के बेटे सोमवीर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में वह चश्मदीद गवाह थे।। इस मामले में कोर्ट में जल्द ही उनकी गवाही होेने वाली थी। ऐसे मेें कोर्ट में उन्हें गवाही से मुकरने की धमकी मिल रही थी। लेकिन बुजुर्ग इसके लिए तैयार नहीं हो रहे थे। इसी काे हत्या का कारण माना जा रहा है। रोहिणी जिले के डीसीपी प्रणव तायल ने बताया कि मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई। हमलावरों को दबाेच लिया जाएगा।