पुलिसकर्मियों की हीरोगिरी देख भड़के एडीजीपी, मौके पर ही कटवा दिए बाल

 

पुलिस लाइन में शहर यमुनानगर थाना प्रभारी सुखवीर ङ्क्षसह को सम्मानित करते एडीजीपी श्रीकांत जाधव।

यमुनानगर में परेड का निरीक्षण करने पहुंचे एडीजीपी श्रीकांत जाधव। पुलिसकर्मियों के लंबे बाल देखकर भड़के। 20 पुलिसकर्मियों के मौके पर ही कटवाए बाल। वहीं जिन पुलिसकर्मियों ने अच्छी परेड की और वर्दी सही तरीके से पहन रखी थी। उन्हें सम्मानित किया गया।

यमुनानगर,  संवाददाता। यमुनानगर पुलिस लाइन में सोमवार की सुबह एडीजीपी श्रीकांत जाधव परेड में पहुंचे। यहां पर उन्होंने परेड का निरीक्षण किया। परेड में 265 पुलिसकर्मी शामिल हुए। इस दौरान कुछ पुलिसकर्मियों के बाल सही से बने हुए नहीं थे। 20 कर्मियों के बाल उन्होंने मौके पर ही कटवाएं। साथ ही सभी पुलिसकर्मियों को अनुशासन में रहने के निर्देश दिए। वहीं जिन पुलिसकर्मियों ने अच्छी परेड की और वर्दी सही तरीके से पहन रखी थी। उन्हें सम्मानित किया गया।एडीजीपी श्रीकांत जाधव ने कहा कि बिना डर के ड्यूटी करें। घर जाते वक्त और परिवार के साथ बैठते वक्त मन में कोई डर नहीं होना चाहिए। तभी नौकरी और जीवन में छवि बनेगी। जो व्यक्ति आजादी से सोचता है, वही सही निर्णय करता है। गलत को गलत कहे और यदि कोई काम गलत है, तो उसे ना कहने की हिम्मत रखें। यदि हम ईमानदार रहेंगे तो अपने परिवार को अच्छे से पाल सकते हैं। गुंडागर्दी बिल्कुल नहीं होनी चाहिए। महिला विरुद्ध अपराध पर तुरंत संज्ञान लो। पुलिस दबे नहीं झुके नहीं। कहीं दिक्कत है तो सीनियर को बताएं।

एसएचओ, डीएसपी, एसपी, आईजी व डीजीपी के पास अपनी बात को रखने का विकल्प खुला रखें। एडीजीपी ने फौजियों के बलिदान का उदाहरण देते हुए कहा कि यह लोग हर रोज शहादत देते हैं। माइनस डिग्री में हथियार लेकर खड़े हैं। हमारी नौकरी तो उनके मुकाबले कुछ भी नहीं है। हमें अपराधियों को पकड़ना है। मां बहनों को छेड़ने वालों को पकड़ना है। पुलिस की कामयाबी आंकड़ों में नहीं बल्कि इस तरह के अपराध रोकने में होती है।

पुलिसकर्मियों को किया गया सम्मानित

एडीजीपी ने शहर यमुनानगर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर सुखबीर सिंह, सब इंस्पेक्टर अजय कुमार, एएसआइ शमशेर सिंह, हेड कांस्टेबल प्रदीप सिंह, हेड कांस्टेबल मोहम्मद याकूब, कांस्टेबल रवि, कांस्टेबल मनदीप, हेड कांस्टेबल संतोष कुमार, लेडी कांस्टेबल सविता, इंस्पैक्टर राजकुमार, इंस्पैक्टर सुखदेव, एएसआई गुरदयाल सिंह, हेड कांस्टेबल अशोक कुमार, कांस्टेबल रंजीत सिंह, कांस्टेबल कमलजीत सिंह, कांस्टेबल सुभाष, हेड कांस्टेबल जितेंद्र पाल, हेड कांस्टेबल परमवीर, लेडी कांस्टेबल रिम्पी, एएसआइ दलबीर सिंह, एएसआइ भीम सिंह, ईएचसी अमित, एएसआइ जगदीप सिंह, एसआइ सुरेंद्र कुमार व शमशेर सिंह को सम्मानित किया।