दिल्ली-एनसीआर में सस्ते फ्लैट खरीदने का मन बना रहे हैं तो जरूर पढ़ें यह खबर

 

दिल्ली-एनसीआर में सस्ते फ्लैट खरीदने का आ गया मौका, जल्द बढ़ने वाले हैं दाम !

Delhi NCR Cheap Flat दिल्ली के साथ नोए़डा ग्रेटर नोएडा समेत एनसीआर के कई शहरों में फ्लैटों की भरमार है। फिलहाल बिना बिके एक लाख से अधिक फ्लैट दिल्ली-एनसीआर में खाली पड़े हैं। ऐसे में आपके पास सस्ते प्लैट खरीदने का शानदार मौका है।

नई दिल्ली/गुरुग्राम/नोएडा,  डिजिटल डेस्क।  अगर आप भी दिल्ली-एनसीआर में आशियाना बनाने के इच्छुक हैं तो आपके यह सुनहरा मौका है। प्रापर्टी के जानकारों की मानें तो फ्लैट खरीदने के लिए यह अच्छा अवसर है, क्योंकि अगले कुछ महीनों के बाद फ्लैट के दामों में ठीकठाक इजाफा हो सकता है। अभी नवरात्रि के शुभ अवसर पर कई बिल्डर ग्रुप छूट की स्कीम लाए, जिसके तहत दाम कुछ कम किए गए हैं। ऐसे में फ्लैट खरीदने के लिए यह अच्छा अवसर है, क्योंकि निर्माण सामग्री में लगातार बढ़ोतरी के चलते अगले कुछ महीनों में दाम में इजाफा हो सकता है।  

दिल्ली एनसीआर में 1 लाख से ज्यादा फ्लैट खाली

आर्थिक मंदी और कोरोना वायरस संक्रमण के चलते लोगों की आर्थिक स्थिति कमजोर हुई है। वहीं, संपत्ति सलाहकार कंपनी प्रापटाइगर के अनुसार, दिल्ली-एनसीआर में 1 लाख से अधिक फ्लैट खाली पड़े हैं, जिन्हें खरीदार की जरूरत है। बताया जा रहा है कि इन फ्लैटों को बेचने में करीब छह साल लग जाएंगे। ऐसे में अगर आप सस्ते फ्लैट खरीदना चाहते हैं तो यह बेहतरीन मौका है, क्योंकि नए फ्लैटों के दाम महंगे होंगे, क्योंकि निर्माण सामग्री के दाम लगातार बढ़ रहे हैं। 

प्रापटाइगर के ताजा रिपोर्ट के अनुसार, भारत के आठ प्रमुख शहरों में बिल्डरों के पास 31 मार्च, 2022 तक करीब 7,35,852 आवासीय इकाइयां ऐसी थीं, जो बिक नहीं पाई हैं। पिछले साल मार्च में ऐसे फ्लैटों की संख्या 7,05,344 थी। प्रापटाइगर की रिपोर्ट में कहा गया है कि पहले इन खाली फ्लैटों की बिक्री में 47 माह का समय लगने का अनुमान था। लेकिन हाल के समय में घरों की मांग बढ़ी है। इससे खाली घरों की बिक्री में अब 42 महीने का समय लगने का अनुमान है।

ग्रेटर नोएडा, गुरुग्राम और फरीदाबाद में हैं सबसे ज्यादा फ्लैट

इसमें कोई दो राय नहीं है कि महंगे दामों और आर्थिक मंदी के साथ कोरोना ने लोगों को बहुत आर्थिक नुकसान पहुंचाया है। यही वजह है कि फ्लैट खरीदारों में कमी आई है। इसके साथ-साथ सबसे ज्यादा बिना बिके फ्लैट दिल्ली-एनसीआर में हैं, जिनमें ग्रेटर नोएडा, नोएडा, गुरुग्राम और फरीदाबाद प्रमुख हैं। संपत्ति सलाहकार कंपनी प्रापटाइगर के अनुसार, दिल्ली-एनसीआर के विभिन्न इलाकों में निर्मित खाली पड़े फ्लैटों की संख्या 1,01,404 है। इतनी बड़ी संख्या में फ्लैटों को बेचने में बिल्डर ग्रुपों को तकरीबन 6 साल का समय लगेगा।

आ सकती है दिल्ली विकास प्राधिकरण की स्कीम

अगर आप दिल्ली में आशियाना बनाना चाहते हैं तो अगले कुछ महीने का इंतजार करना पड़ेगा, क्योंकि दिल्ली विकास प्राधिकरण अपनी फ्लैटों की स्कीम लान्च करने में कुछ समय लेगा। दरअसल, दिसंबर, 2021 में डीडीए ने 18500 फ्लैटों की हाउसिंग स्कीम लान्च की थी, लेकिन इसे कोई खास रिस्पांस नहीं मिला था। सिर्फ 12000 से अधिक कुछ लोगों ने इस स्कीम में आवेदन किया था, ऐसे में माना जा रहा है कि कुछ नए फ्लैटों के साथ डीडीए अगले कुछ महीनों में हाउसिंग स्कीम लान्च कर सकता है।