शिवपाल यादव मसले पर अखिलेश यादव का दो टूक जवाब, बोले- लोकतंत्र की सीरियल किलर है भाजपा

 

कन्नौज में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बैठक की।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं विधानसभा नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने कानपुर के लाकरकांड पर भाजपा को घेरते हुए कहा कि अभी तक ब्याज लूटा अब लाकर लूट रहे हैं। सभी लोग अपने बैंकों में अपने लाकर जरूर चेक कर लें।

कन्नौज, संवाददाता। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं यूपी विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा पर हमला बोला है। उन्होंने भाजपा को लोकतंत्र का सीरियल किलर बताया है और कानपुर के लाकरकांड पर भी घेरा है। उन्होंने कहा कि अभी तक ब्याज की लूट की और अब भाजपा वाले लाकर लूट रहे हैं। वह बुधवार की दोपहर एमएलसी चुनाव को लेकर बैठक करने कन्नौज आए थे। उन्होंने बैठक के बाद पत्रकारों से वार्ता की और शिवपाल के भाजपा में जाने के सवाल पर दो टूक जवाब दिया।

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि लोकतंत्र में लूटने वाली पार्टी है बीजेपी। भाजपा को लोकतंत्र का सीरियल किलर बताते हुए उन्होंने कहा कि हर चुनाव में अफसरों साथ लेकर भाजपा लोकतंत्र की हत्या कर रही है। उन्होंने पुलिस प्रशासन का साथ लेकर एमएलसी चुनाव में भी सपा के उम्मीदवारों को रोकने का आरोप लगाया। कानपुर लॉकर मामले में भी भाजपा पर हमला बोला और कहा कि अभी तक ब्याज लूटा जा रहा था और अब लॉकर लूट रहे हैं। अब हर जिले में बैंक लॉकर से लूट होगी।

उन्होंने कहा की लॉकर में जिनका सामान है, वह अपने लाकर चेक कर लें। अखिलेश ने कहा कि चुनाव बाद महंगाई जमकर बढ़ी है और बेरोजगारी ने नौजवानों को आत्महत्या करने पर मजबूर कर दिया है। आज नौजवान भटक रहा लेकिन नौकरी नही मिल रही है। एमएलसी चुनाव में कन्नौज के सपा प्रत्याशी का साथ देने का दावा किया और शिवपाल यादव के भाजपा में जाने के सवाल पर अखिलेश ने कहा- ऐसी बातों पर समय व्यर्थ न करें।

विधानसभा चुनाव के बाद पहली बार कन्नौज आए सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने तिर्वा रोड स्थित पार्टी कार्यालय में एमएलसी चुनाव को लेकर प्रधानों, सभासदों, बीडीसी व जिला पंचायत सदस्यों के साथ बंद कमरे में बैठक की। एमएलसी चुनाव की बैठक के बाद वह कन्नौज में विधानसभा चुनाव में प्रत्याशियों की हर पर भी चर्चा की। वहीं एमएलसी चुनाव में अखिलेश ने एमएलसी मतदाताओं से सपा प्रत्याशी हरीश यादव के लिये समर्थन मांगा।