हर दिन करें एक्सरसाइज, बढ़ेगा नहीं कैंसर का ट्यूमर; अध्ययन का दावा

 

हर दिन करें एक्सरसाइज, बढ़ेगा नहीं कैंसर का ट्यूमर; अध्ययन का दावा

कैशेक्सिया (Cachexia ) उपापचय को नुकसान पहुंचाने वाला विकार है और वह कैंसर के एडवांस स्टेज वाले 80 प्रतिशत मरीजों को प्रभावित करता है। वह कैंसर से होने वाली मौतों में से करीब एक तिहाई का प्रमुख कारण भी है।

ग्रीनबोरो, एएनआइ। व्यायाम पर किए गए एक अध्ययन में दावा किया गया है कि अपनी दिनचर्या में व्यायाम को शामिल करने से के एक लाभ होगा। इसके अनुसार जिनकी दिनचर्या में व्यायाम शामिल होता है, उनमें कैंसर के ट्यूमर का विकास धीमा हो जाता है। व्यायाम कैंसर की जटिलता को कम करने में मदद करता है। इसे वेस्टिंग सिंड्रोम या कैशेक्सिया कहा जाता है। यह अध्ययन 'एक्सपेरिमेंटल बायोलाजी' नामक पत्रिका में प्रकाशित हुआ है।

कैशेक्सिया (Cachexia ) उपापचय को नुकसान पहुंचाने वाला विकार है और वह कैंसर के एडवांस स्टेज वाले 80 प्रतिशत मरीजों को प्रभावित करता है। वह कैंसर से होने वाली मौतों में से करीब एक तिहाई का प्रमुख कारण भी है। कैशेक्सिया के मरीज मांसपेशियों के नुकसान, दिल की संरचना व कार्य में गिरावट तथा समग्र रूप में जीवन की खराब गुणवत्ता का अनुभव करते हैं।

अमेरिका स्थित यूनिवर्सिटी आफ नार्थ कैरोलिना की ट्रेसी पैरी प्रयोगशाला के स्नातक छात्र लुइसा टिची के अनुसार, 'अधिकांश व्यायाम, खासकर एरोबिक सहज व किफायती हैं। लगातार एरोबिक व्यायाम (दौड़ना, रस्सी कूदना आदि) कैंसर की जटिलताओं व खतरों को कम करते हैं।' उन्होंने कहा, 'हमारे अध्ययन ने संकेत दिया है कि ट्यूमर के असर से पहले व्यायाम दिल की संरचना और कार्य को संरक्षित करके कैंसर कैशेक्सिया के दौरान महत्वपूर्ण कार्डियोप्रोटेक्टिव की भूमिका निभाते हैं।'

इसके अलावा हर दिन व्यायाम गुर्दे की बीमारी को बढ़ने नहीं देता है और तो और दिल से जुड़ी समस्याएं भी कम होती हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की मानें तो वयस्कों को एक सप्ताह में कम से कम 150 मिनट मध्यम-तीव्रता या कम से कम 75 मिनट की तेज चलना या जागिंग करनी चाहिए। इस स्टडी में पाया गया कि किडनी की बीमारी से पीड़ित लोग जिनकी गतिविधि का स्तर WHO से कम से कम दो गुना अधिक था, लगभग दो वर्षों तक स्वस्थ रहे। सक्रिय बने रहना महत्वपूर्ण था।