दिल्ली में महंगाई का एक और झटका, कमर्शियल वाहनों का फिटनेस जुर्माना बढ़ा

 

Delhi-NCR Challan News : दिल्ली में महंगाई का एक और झटका, कमर्शियल वाहनों का फिटनेस जुर्माना बढ़ा

Delhi Challan News व्यावसायिक वाहनों का फिटनेस जुर्माना काफी अधिक बढ़ाने को लेकर दिल्ली की विभिन्न आटो यूनियनों में नाराजगी है क्योंकि लेट होने पर भारी जुर्माने का प्रावधान है। उधर अधिकारियों का कहना है कि यह व्यवस्था केंद्र सरकार के आदेश के तहत लागू की गई है।

नई दिल्ली surender Aggarwal। दिल्ली परिवहन विभाग ने व्यावसायिक वाहनों का फिटनेस जुर्माना काफी बढ़ा दिया है। यानी वाहन की फिटनेस को लेकर लेटलतीफी होगी तो उसे जुर्माने के तौर पर मोटी राशि देनी होगी। इससे पहले कोरोना के चलते दो साल से यह राशि माफ थी। एक अप्रैल से बदली गई व्यवस्था के तहत आटो की एक दिन फिटनेस लेट हो जाने पर एक बार में 2500 रुपये लगेंगे उसके बाद प्रतिदिन 20 रुपये के हिसाब से चार्ज होगा। इसके अलावा हल्के मोटर वाहन (एलएमवी) यानी टैक्सी, ग्रामीण सेवा, फटफट सेवा आदि पर एक बार में 5000 लगेंगे। उसके बाद प्रतिदिन 20 रुपये के हिसाब से लगेंगे। अगर गलती की तो भारी भरकम जुर्माना भरना होगा।

वहीं, दिल्ली की विभिन्न आटो यूनियन ने इसका विरोध किया है। आटो यूनियन के नेता राजेंद्र सोनी, उपेंद्र सिंह व किशन वर्मा आदि ने इस बारे में दिल्ली सरकार से पुन:विचार करने की मांग की है। उधर, इस बाबत दिल्ली परिवहन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि यह व्यवस्था केंद्र सरकार के आदेश के तहत लागू की गई है। इस नियम को लेकर ग्रामीण सेवा के नेता चंदू चौरसिया ने कहा है कि उन्होंने इस बारे में परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत के सामने समस्या रखी है। आल दिल्ली आटो टैक्सी ट्रांसपोर्ट कांग्रेस यूनियन ने इन सब समस्याओं को लेकर संयुक्त तौर पर 11 अप्रैल को नया सचिवालय पावर हाउस आइटीओ पर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन तय हुआ है।यूनियन का कहना है कि दिल्ली के आटो टैक्सी चालक 18 अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे।

दिल्ली में इन नियमों को ज्यादा तोड़ते हैं वाहन चालक

  • रेड लाइट जपिंग
  • ओवर स्पीडिंग
  • लाइसेंस नहीं होना
  • प्रदूषण प्रमाण पत्र नहीं होना

इस नियम के तहत ना सिर्फ वाहनों के फिटनेस टेस्ट को लेकर बदलाव हुए है बल्कि वाहनों को अनफिट घोषित करने के नियमों में भी बदलाव किए गए हैं. इसके तहत अब इलेक्ट्रिक वाहनों की जांच के लिए कई नए उपकरणों को शामिल कर दिया गया है. इससे टेस्ट रिजल्ट के और भी सटीक और सही आने की संभावना है. इसके द्वारा टेस्ट रिजल्ट का नया फार्मेट मिलेगा, जो वाहन मालिकों को दिया जायेगा, जिससे वाहन मालिकों को इसे लेकर कोई आशंका नहीं रहेगी.