कोवैक्सीन में होगा सुधार, भारत बायोटेक ने कहा- वैक्सीन की सुरक्षा और प्रभाव पर WHO को नहीं है आपत्ति

 

भारत बायोटेक ने कहा- वैक्सीन की सुरक्षा और प्रभाव पर WHO को नहीं है आपत्ति

कोरोना वैक्सीन बनाने वाली भारतीय कंपनी भारत बायोटेक ने WHO द्वारा कोवैक्सीन की आपूर्ति पर लगाई गई रोक पर प्रतिक्रिया दी है। भारत बायोटेक ने कहा है कि कोवैक्सीन की सुरक्षा व प्रभाव पर ऐतराज नहीं जताया गया है जो दूसरी कमियां बताई हैं उसमें हम सुधार करेंगे।

नई दिल्ली, एएनआइ। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों कोवैक्सीन (Covaxin) की आपूर्ति पर रोक लगने के बाद भारत बायोटेक (Bharat Biotech) ने सोमवार को अपनी प्रतिक्रिया दी। भारत में कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक ने कहा, 'हमें फीडबैक मिला है, हम उसमें सुधार करेंगे। WHO ने कहा है कि यह सुधार वैक्सीन के असर व सुरक्षा से संबंधित नहीं है। यह कोवैक्सीन के लिए WHO की नियमित जांच थी।'

WHO के अनुसार, कोवैक्सीन निर्माता कंपनी भारत बायोटेक को वैक्सीन की कमियों को दूर करने को कहा गया है। वैक्सीन की सुविधाओं को अपग्रेड करने और निरीक्षण में पाई गई कुछ मामूली कमियों को दूर करने को कहा है। इसके अनुसार वैक्सीन प्राप्त करने वाले देशों से उचित कार्रवाई करने के लिए भी कहा गया है, लेकिन उसने यह निर्दिष्ट नहीं किया कि उचित कार्रवाई क्या होगी।

हालांकि संगठन का कहना है कि टीका पूरी तरह से प्रभावी है और कोई सुरक्षा चिंता नहीं है, लेकिन निर्यात के लिए उत्पादन के निलंबन के परिणामस्वरूप कोवैक्सीन की आपूर्ति बाधित होगी। वहीं 14 से 22 मार्च तक डब्ल्यूएचओ पोस्ट इमरजेंसी यूज लिस्टिंग (इयूएल) निरीक्षण के परिणामों के तहत यह निलंबन किया गया है और वैक्सीन निर्माता ने भी निर्यात के लिए कोवैक्सिन के उत्पादन को निलंबित करने की अपनी प्रतिबद्धता का संकेत दिया है।