XE Variant को लेकर वायरोलाजिस्ट गगनदीप कांग का दावा, गंभीर बीमारी पैदा होने का कारण नहीं यह संस्करण, चिंतित न होने की सलाह

 

वायरोलाजिस्टों गगनदीप कांग ने कहा XE Variant को लेकर चिंता की जरूरत नहीं (एएनआई)

गगनदीप कांग ने बताया कि यह वैरिएंट थोड़ा तेजी से फैलता है लेकिन यह अधिक गंभीर बीमारी का कारण नहीं लगता है। कांग ने मुंबई में एक्सई वैरिएंट की खोज के बारे में कहा हम गंभीर बीमारियों के बारे में अधिक चिंतित हैं।

नई दिल्ली, आइएएनएस: भारत के शीर्ष वायरोलाजिस्टों में से एक गगनदीप कांग ने गुरुवार को कहा कि हम अब तक कोरोना के एक्सई वैरिएंट के बारे में जो जानते हैं, उससे ऐसा नहीं लगता कि यह चिंता का कोई कारण है।

तेज संक्रमण गंभीर बीमारी का कारण नहीं

गगनदीप कांग ने बताया कि यह वैरिएंट थोड़ा तेजी से फैलता है, लेकिन यह अधिक गंभीर बीमारी का कारण नहीं लगता है। कांग ने मुंबई में एक्सई वैरिएंट की खोज के बारे में कहा, हम गंभीर बीमारियों के बारे में अधिक चिंतित हैं, और अगर ऐसा नहीं हो रहा है, तो मुझे लगता है कि हमें इसे ट्रैक करना चाहिए, लेकिन इसके बारे में ज्यादा चिंता न करें।

एक्सई वैरिएंट को लेकर इंसाकाग ने किया इन्कार

हालांकि, इंसाकाग ने एक्सई वैरिएंट का पता लगाने से इन्कार करते हुए कहा है कि यह वैरिएंट एक्सई वैरिएंट की जीनोमिक तस्वीर से संबंधित नहीं है। इंसाकाग भारत में कोरोना के परिसंचारी उपभेदों के जीनोम अनुक्रमण और वायरस भिन्नता का अध्ययन और निगरानी करने के लिए स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के तहत स्थापित मंच है।

एक्सई वैरिएंट को लेकर चिंता की जरूरत नहीं

कांग ने कहा कि इंसाकाग का कहना है कि अगर यह वास्तव में एक्सई है, फिर भी हमें इसके बारे में चिंतित नहीं होना चाहिए। उन्होंने जोर देकर कहा कि जब भी हम एक नया वैरिएंट देखते हैं, तो महत्वपूर्ण बात यह है कि देश के लिए इसके क्या निहितार्थ हैं। क्या यह एक नई लहर शुरू करने जा रहा है, क्या लोग गंभीर रूप से बीमार पड़ने वाले हैं आदि।

सीक्वेंसिंग को लेकर परिणाम स्पष्ट नहीं

ओमिक्रोन की तुलना में एक्सई वैरिएंट में 10 प्रतिशत अधिक संचरण क्षमता का दावा करने वाली रिपोर्टों के बारे में कांग ने कहा कि ये यूके के निष्कर्ष हैं, क्योंकि वे बहुत सारी सीक्वेंसिंग करते हैं।