25 लाख रुपये चोरी मामले में दिल्ली पुलिस ने तीन दिन में किया आरोपितों को गिरफ्तार

 


आरोपितों के नाम विशाल जायसवाल व रोहित जोसेफ है।

जांच के बाद पुलिस टीम ने पहले 16 मई को रोहित जोसेफ को उसके महावीर एन्क्लेव पालम स्थित किराए के घर से दबोच लिया।उसके कब्जे से अपराध में इस्तेमाल की गई कार भी बरामद कर ली।मुख्य आरोपित विशाल को भी रजोकरी में किराए के घर से गिरफ्तार कर लिया गया।

नई दिल्ली, संवाददाता। लाहौरी गेट में ट्रेडिंग कंपनी चलाने वाले व्यापारी का 25 लाख रुपये चोरी कर लेने के आरोप में लाहौरी गेट थाना पुलिस ने उनके एक कर्मचारी को साथी समेत दबोच लिया है। कर्मचारी को पैसों की जरूरत थी, जिससे उसने अपने एक साथी के साथ साजिश रच वारदात की। वारदात के तीन दिन के भीतर पुलिस ने दोनों को दबोच लिया। डीसीपी उत्तरी जिला सागर सिंह कलसी के मुताबिक गिरफ्तार किए गए आरोपितों के नाम विशाल जायसवाल (इंदिरा पार्क सागरपुर ) व रोहित जोसेफ (महाबीर एन्क्लेव पालम) है।

चोरी के 24 लाख रुपये बरामद

इनके पास से चोरी की 24.20 लाख नकद, चोरी के पैसों से खरीदे गए एक मोबाइल व अपराध में इस्तेमाल एसएक्स 4 कार जब्त कर ली गई है। गत 13 मई को तिलक बाजार, खारी बावली में ट्रेडिंग कंपनी चलाने वाले आकाश जोशी ने लाहौरी गेट थाने में एक एफआइआर दर्ज करवा आरोप लगाया था, उनका कर्मचारी विशाल उनकी दुकान से 25 लाख रुपये लेकर फरार हो गया है।

करीब 170 सीसीटीवी फुटेज की हुई जांच

पुलिस टीम ने मौका ए वारदात का निरीक्षण कर जांच शुरू कर दी। घटनास्थल के साथ-साथ आस पास लगे करीब 170 सीसीटीवी कैमरों के फुटेज की जांच की गई। फुटेज की मदद से एक आटो की पहचान की गई जिसे विशाल ने अपने दोस्त व सह आरोपी रोहित के पास जाने के लिए किराए पर लिया था। आटो ड्राइवर से पूछताछ के बाद रोहित द्वारा प्रयोग की गई कार के रजिस्ट्रेशन नंबर की पहचान की गई। उसके बाद दोनों के स्वजनों से उनके मोबाइल नंबर जुटाए गए।

अपराध में इस्तेमाल की गई कार बरामद

जांच के बाद पुलिस टीम ने पहले 16 मई को रोहित जोसेफ को उसके महावीर एन्क्लेव, पालम स्थित किराए के घर से दबोच लिया। उसके कब्जे से अपराध में इस्तेमाल की गई कार भी बरामद कर ली गई। बाद में उसकी निशानदेही पर मुख्य आरोपित विशाल को भी रजोकरी में किराए के घर से गिरफ्तार कर लिया गया। उसके कब्जे से 24.20 लाख रुपये और मोबाइल बरामद किया गया। पूछताछ में विशाल ने बताया कि 13 मई को मालिक के कार्यालय से 25 लाख चोरी करने के बाद वह आटो लेकर मंदिर मार्ग आ गया था, वहां उसकी मुलाकात अपने दोस्त रोहित जोसेफ से हुई। बाद में उसने आटे वहीं छोड़ दिया और रोहित की कार चोरी की नकदी लेकर पालम आ गए थे।

अपराध में इस्तेमाल की गई कार बरामद

जांच के बाद पुलिस टीम ने पहले 16 मई को रोहित जोसेफ को उसके महावीर एन्क्लेव, पालम स्थित किराए के घर से दबोच लिया। उसके कब्जे से अपराध में इस्तेमाल की गई कार भी बरामद कर ली गई। बाद में उसकी निशानदेही पर मुख्य आरोपित विशाल को भी रजोकरी में किराए के घर से गिरफ्तार कर लिया गया। उसके कब्जे से 24.20 लाख रुपये और मोबाइल बरामद किया गया। पूछताछ में विशाल ने बताया कि 13 मई को मालिक के कार्यालय से 25 लाख चोरी करने के बाद वह आटो लेकर मंदिर मार्ग आ गया था, वहां उसकी मुलाकात अपने दोस्त रोहित जोसेफ से हुई। बाद में उसने आटे वहीं छोड़ दिया और रोहित की कार चोरी की नकदी लेकर पालम आ गए थे।