लोगों की मदद बन गया अनूप खन्ना के जीवन का मकसद, सिर्फ 5 रुपये में लोगों को कराते हैं भरपेट भोजन

 

लोगों की मदद बन गया अनूप के जीवन का मकसद, सिर्फ 5 रुपये में लोगों को कराते हैं भरपेट भोजन

दादी की रसोई में सिर्फ 5 रुपये खाना खिलाने वाले अनूप खन्‍ना केबीसी 12 के कर्मवीर स्‍पेशल एपिसोड में नजर आ चुके हैं। इस दौरान अनूप की कहानी सुनकर सदी के महानायक अमिताभ बच्‍चन भी काफी प्रभावित हुए।

नोएडा,  संवाददाता। नोएडा में सिर्फ 5 रुपये में जरूरतमंदों को भरपेट भोजन कराने वाले अनूप खन्ना आज किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। अनूप खन्ना ने अपने जन्मदिन पर 21 अगस्त, 2015 को अपनी मां सरोजनी खन्ना और कुछ लोगों के सहयोग से  'दादी की रसोई' की शुरुआत की थी। मां के नाम से ही उन्‍होंने 'दादी की रसोई' का नाम रखा, जो आज देश दुनिया में चर्चित है। शुरुआत में 10 से 12 लोग उनके पास खाना खाने आते थे और अब रोजाना 500 से ज्‍यादा लोग यहां भोजन करते हैं। सितंबर 2019 में अनूप की मां सरोजनी खन्ना का 90 वर्ष की आयु में निधन हो गया था। उनकी याद में 'दादी की रसोई' की शुरुआत हुई, जो 7 साल से सफलतापूर्वक संचालित हो रही है। वह बताते हैं कि अब तो जीवन को लोगों की मदद के लिए समर्पित कर दिया है।

स्वाभिमान बना रहे इसलिए लेते हैं 5 रुपये

तकरीबन 7 साल से सफलतापूर्वक  'दादी की रसोई' चला रहे अनूप खन्ना कहते हैं कि हमारा इरादा यह था कि जरूरतमंदों को 'दादी की रसोई' के जरिये खाना निश्शुल्क में दिया जाए, लेकिन पांच रुपये लेने के पीछे मकसद ये कि खाने वाले का स्‍वाभिमान बना रहे कि उसने खरीदकर खाया है।

नोएडा के समाजसेवी अनूप खन्ना द्वारा संचालित 'दादी की रसोई' में रोजाना भोजन के रूप में चावल और अचार के साथ अलग-अलग तरह की पौष्टिक सब्जियां और दालों के साथ अन्य चीजें बनती हैं। लोग 5 रुपये देकर बड़े चाव से खाते हैं। वह भी भरपेट है।

jagran

इतना ही नहीं खास मौकों पर मसलन त्‍योहारों पर पूड़ी, हलवा, मिठाई के साथ-साथ आइसक्रीम भी मुहैया कराई जाती है। वह भी 5 रुपये में ही। नोएडा में दादी की रसोई का माडल की चर्चा राष्ट्रपति भवन तक पहुंची थी। रसोई चलाने वाले अनूप खन्ना को राष्ट्रपति भवन से बुलावा आया था।

jagran

अनूप मानते हैं कि पांच रुपये में वह गरीबों को उनके स्‍वाभिमान के साथ भोजन कराते हैं। इतना ही नहीं, अनूप खन्ना ने केबीसी में जीती हुई अपनी सारी रकम गरीबों को दान की है। 

jagran

बता दें कि 'दादी की रसोई' नाम की ये दुकान उत्तर प्रदेश में नोएडा के सेक्टर-29 स्थित गंगा शॉपिंग कॉम्प्लेक्स में है। जहां हर दिन देसी घी के तड़के से दोपहर 12 से 2 बजे तक सैकड़ों लोगों की भीड़ रहती है। अनूप सिर्फ दादी की रसोई ही नहीं चला रहे हैं, बल्कि देश के किसी भी हिस्से में आयी प्राकृतिक आपदाओं में वह मदद करते हैं।रतलब है कि पांच रुपये में हजारों जरूरत मंद को भरपेट खाना खिलाने वाले समाजसेवी के किरदार की भूमिका में बड़े पर्दे के क्राइम मास्टर गोगो शक्ति कपूर जल्द एक वेव फिल्म में नजर आएंगे। फिल्म की शूटिंग शुरू हो गई है।