दिल्ली में ATM काटकर दस लाख की नकदी निकाल ले गए एसयूवी सवार बदमाश, सीसीटीवी कैमरे से बचने के लिए कर दिया था स्प्रे

 

करोल बाग इलाके में भी एक एटीएम से रुपये निकालने की बदमाशों ने की कोशिश

बदमाशों ने पहले सीसीटीवी कैमरे पर स्प्रे कर धुंधला कर दिया। फिर एटीएम मशीन को काट कर उसमें रखे दस लाख रुपये निकाल लिए। इसी दौरान एटीएम के सिस्टम में छेड़छाड़ होने से बैंक के सेंट्रल मानीटरिंग सिस्टम ने सतर्क करना शुरू कर दिया।

नई दिल्ली, संवाददाता। पटेल नगर इलाके में मंगलवार तड़के एसयूवी सवार बदमाश एटीएम को काटकर दस लाख की नकदी निकाल ले गए। इसके अलावा करोल बाग में भी एक एटीएम से रुपये निकालने की कोशिश की गई। पुलिस दोनों की मामलों में आरोपितों की तलाश कर रही है। वेस्ट पटेल नगर में एयू स्माल फाइनेंस बैंक का एटीएम है। मंगलवार करीब चार बजे एसयूवी में सवार बदमाश एटीएम में पहुंचे।

बदमाशों ने पहले सीसीटीवी कैमरे पर स्प्रे कर धुंधला कर दिया। फिर एटीएम मशीन को काट कर उसमें रखे दस लाख रुपये निकाल लिए। इसी दौरान एटीएम के सिस्टम में छेड़छाड़ होने से बैंक के सेंट्रल मानीटरिंग सिस्टम ने सतर्क करना शुरू कर दिया। बदमाशों ने भागते समय एटीएम में आग भी लगा दी। वहीं करोलबाग में बुधवार को रैगरपुरा स्थित एक्सिस बैंक के एटीएम को भी बदमाशों ने निशाना बनाने की कोशिश की। हालांकि वे किसी के आने पर फरार हो गए।

36 घंटे के भीतर चोर हुए गिरफ्तार, चोरी का माल बरामद

फतेहपुरी इलाके से बदमाशों ने ड्राइफ्रूट की दुकान से 580 किलोग्राम काजू चोरी कर फिर चोरी के माल को ज्योति नगर के कारोबारी को 2.65 लाख रुपये में बेच दिया। चोरी किए काजू की कीमत छह लाख रुपये थी। मामले में पुलिस ने वारदात के 36 घंटे के भीतर दो चारों अनुपम अग्रवाल उर्फ अमित, सुधीर महतो और चोरी का काजू खरीदने वाले कारोबारी विपिन को गिरफ्तार कर लिया।

उत्तरी जिला पुलिस उपायुक्त सागर सिंह कलसी के मुताबिक, नौ मई को फतेहपुरी इलाके में ड्राइफ्रूट दुकान के प्रबंधक शिव कुमार उर्फ रवि ने अपनी दुकान में चोरी की शिकायत दी थी। पीड़ित ने बताया कि सात मई को इन लोगों ने अपनी दुकान बंद की थी। इस दौरान नौ मई को जब वह दुकान पहुंचे तो पता चला कि वहां चोरी हो गई है। किसी ने दुकान से काजू के 29 कार्टन चोरी कर लिए। इनमें करीब 580 किलोग्राम काजू थे। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर एसीपी विजय सिंह की देखरेख में एसएचओ विजेंदर राणा के नेतृत्व में एसआइ परवीन, एएसआइ. बिजेंदर, हवलदार सुनील, सिपाही मोनित, सचिन और धर्मेंद्र की टीम का गठन किया।

पुलिस टीम ने 120 सीसीटीवी कैमरों के फुटेज की जांच की। काफी प्रयासों के बाद पुलिस ने 10 मई को सुधीर महतो को दबोच लिया। पूछताछ के दौरान उसने बताया कि उसने अनूप नामक व्यक्ति के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने आरोपित अनूप को पांडव नगर स्थित उसके घर से दबोच लिया। पूछताछ के दौरान दोनों ने बताया कि चोरी का माल ज्योति नगर के कारोबारी विपिन को बेच दिया था। विपिन ने अभी माल के पैसे नहीं दिए थे। पुलिस ने विपिन के घर छापेमारी कर उसे गिरफ्तार कर सारा माल बरामद कर लिया। फिलहाल पुलिस तीनों आरोपितों से पूछताछ कर रही है।